Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Oct 2023 · 1 min read

“आज की रात “

“आज की रात ”
आज की रात आ जाओ चलें हम दोनों साथ,
बाहों में बाहें डाल कर, करेंगे मीठी बात।
जो भी हों सपने, दोनों मिलकर देखेंगे साथ,
यह है आज की रात, हमारी मनोरंजन की सबसे खास बात।

आज की रात में छुपा है ,जादू का सिलसिला,
सपनों के सफर में,आओ चले एक साथ।
खोये हैं सपनों के सफर में, हम दोनों एक साथ,
आज की रात आ जाओं , चलें हम दोनों साथ ।।

8 Likes · 2 Comments · 234 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बेटा राजदुलारा होता है?
बेटा राजदुलारा होता है?
Rekha khichi
शेरू
शेरू
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हुस्न वालों से ना पूछो गुरूर कितना है ।
हुस्न वालों से ना पूछो गुरूर कितना है ।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
होली
होली
Manu Vashistha
💐अज्ञात के प्रति-91💐
💐अज्ञात के प्रति-91💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वाह टमाटर !!
वाह टमाटर !!
Ahtesham Ahmad
आज बाजार बन्द है
आज बाजार बन्द है
gurudeenverma198
हकीकत जानूंगा तो सब पराए हो जाएंगे
हकीकत जानूंगा तो सब पराए हो जाएंगे
Ranjeet kumar patre
अपनी क्षमता का पूर्ण प्रयोग नहीं कर पाना ही इस दुनिया में सब
अपनी क्षमता का पूर्ण प्रयोग नहीं कर पाना ही इस दुनिया में सब
Paras Nath Jha
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
बात का जबाब बात है
बात का जबाब बात है
शेखर सिंह
मेरी राहों में ख़ार
मेरी राहों में ख़ार
Dr fauzia Naseem shad
सिर्फ खुशी में आना तुम
सिर्फ खुशी में आना तुम
Jitendra Chhonkar
4) “एक और मौक़ा”
4) “एक और मौक़ा”
Sapna Arora
शीतलहर
शीतलहर
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
पितृ दिवस पर....
पितृ दिवस पर....
डॉ.सीमा अग्रवाल
गुरु
गुरु
Rashmi Sanjay
दोस्ती के नाम.....
दोस्ती के नाम.....
Naushaba Suriya
।।  अपनी ही कीमत।।
।। अपनी ही कीमत।।
Madhu Mundhra Mull
खींचातानी  कर   रहे, सारे  नेता लोग
खींचातानी कर रहे, सारे नेता लोग
Dr Archana Gupta
मेरी जिंदगी में मेरा किरदार बस इतना ही था कि कुछ अच्छा कर सकूँ
मेरी जिंदगी में मेरा किरदार बस इतना ही था कि कुछ अच्छा कर सकूँ
Jitendra kumar
न पाने का गम अक्सर होता है
न पाने का गम अक्सर होता है
Kushal Patel
जंगल, जल और ज़मीन
जंगल, जल और ज़मीन
Shekhar Chandra Mitra
कोरोना महामारी
कोरोना महामारी
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
"बहुत है"
Dr. Kishan tandon kranti
हम हमारे हिस्से का कम लेकर आए
हम हमारे हिस्से का कम लेकर आए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जो खत हीर को रांझा जैसे न होंगे।
जो खत हीर को रांझा जैसे न होंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
भैया दूज (हिंदी गजल/गीतिका)
भैया दूज (हिंदी गजल/गीतिका)
Ravi Prakash
संस्कार
संस्कार
Sanjay ' शून्य'
बस माटी के लिए
बस माटी के लिए
Pratibha Pandey
Loading...