Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jun 2023 · 1 min read

आजकल बहुत से लोग ऐसे भी है

आजकल बहुत से लोग ऐसे भी है
जिन्हें वे फूटी आंख भी देखना पंसद
नहीं करते और वक्त मिलते ही
उनकी कमियां गिनाते है
लेकिन अपने वाट्सएप स्टेटस,
फेस बुक स्टोरी एवं इस्टाग्राम
में अपने ही साथ की
अनेकानेक फोटो शेयर करते हैं।
💐डॉ.रश्मि मिश्रा💐

1 Like · 352 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शादी वो पिंजरा है जहा पंख कतरने की जरूरत नहीं होती
शादी वो पिंजरा है जहा पंख कतरने की जरूरत नहीं होती
Mohan Bamniya
आप और हम जीवन के सच ..........एक प्रयास
आप और हम जीवन के सच ..........एक प्रयास
Neeraj Agarwal
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
कुछ नींदों से अच्छे-खासे ख़्वाब उड़ जाते हैं,
कुछ नींदों से अच्छे-खासे ख़्वाब उड़ जाते हैं,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
जय बोलो मानवता की🙏
जय बोलो मानवता की🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
रमेशराज का हाइकु-शतक
रमेशराज का हाइकु-शतक
कवि रमेशराज
किसी के साथ दोस्ती करना और दोस्ती को निभाना, किसी से मुस्कुर
किसी के साथ दोस्ती करना और दोस्ती को निभाना, किसी से मुस्कुर
Anand Kumar
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
और मौन कहीं खो जाता है
और मौन कहीं खो जाता है
Atul "Krishn"
20-- 🌸बहुत सहा 🌸
20-- 🌸बहुत सहा 🌸
Mahima shukla
जी करता है , बाबा बन जाऊं – व्यंग्य
जी करता है , बाबा बन जाऊं – व्यंग्य
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
.तेरी यादें समेट ली हमने
.तेरी यादें समेट ली हमने
Dr fauzia Naseem shad
जो पहले ही कदमो में लडखडा जाये
जो पहले ही कदमो में लडखडा जाये
Swami Ganganiya
आंखों में नींद आती नही मुझको आजकल
आंखों में नींद आती नही मुझको आजकल
कृष्णकांत गुर्जर
पहचान
पहचान
Seema gupta,Alwar
चाय की प्याली!
चाय की प्याली!
कविता झा ‘गीत’
किसी नौजवान से
किसी नौजवान से
Shekhar Chandra Mitra
द्रुत विलम्बित छंद (गणतंत्रता दिवस)-'प्यासा
द्रुत विलम्बित छंद (गणतंत्रता दिवस)-'प्यासा"
Vijay kumar Pandey
पिया मिलन की आस
पिया मिलन की आस
Kanchan Khanna
सर्दी का उल्लास
सर्दी का उल्लास
Harish Chandra Pande
"समष्टि"
Dr. Kishan tandon kranti
*चाल*
*चाल*
Harminder Kaur
सामाजिक मुद्दों पर आपकी पीड़ा में वृद्धि हुई है, सोशल मीडिया
सामाजिक मुद्दों पर आपकी पीड़ा में वृद्धि हुई है, सोशल मीडिया
Sanjay ' शून्य'
सद्ज्ञानमय प्रकाश फैलाना हमारी शान है।
सद्ज्ञानमय प्रकाश फैलाना हमारी शान है।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जाते निर्धन भी धनी, जग से साहूकार (कुंडलियां)
जाते निर्धन भी धनी, जग से साहूकार (कुंडलियां)
Ravi Prakash
मनुष्य जीवन है अवसर,
मनुष्य जीवन है अवसर,
Ashwini Jha
prAstya...💐
prAstya...💐
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
हमें जीना सिखा रहे थे।
हमें जीना सिखा रहे थे।
Buddha Prakash
आऊं कैसे अब वहाँ
आऊं कैसे अब वहाँ
gurudeenverma198
जो ख्वाब में मिलते हैं ...
जो ख्वाब में मिलते हैं ...
लक्ष्मी सिंह
Loading...