Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jul 2023 · 1 min read

अरमानों की भीड़ में,

अरमानों की भीड़ में,
खोया है इंसान ।
सकूं सभी में ठूँढता,
ख़ुद से हो अंजान ॥

111 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Mahendra Narayan
View all
You may also like:
बचपन
बचपन
Vedha Singh
ये आंखें जब भी रोएंगी तुम्हारी याद आएगी।
ये आंखें जब भी रोएंगी तुम्हारी याद आएगी।
Phool gufran
रोज रात जिन्दगी
रोज रात जिन्दगी
Ragini Kumari
2319.पूर्णिका
2319.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मेरे भगवान
मेरे भगवान
Dr.Priya Soni Khare
मास्टरजी ज्ञानों का दाता
मास्टरजी ज्ञानों का दाता
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
मनुख
मनुख
श्रीहर्ष आचार्य
ईश्वर का घर
ईश्वर का घर
Dr MusafiR BaithA
लिख देती है कवि की कलम
लिख देती है कवि की कलम
Seema gupta,Alwar
पेड़ लगाओ तुम ....
पेड़ लगाओ तुम ....
जगदीश लववंशी
अपनी तस्वीर
अपनी तस्वीर
Dr fauzia Naseem shad
महात्मा गांधी
महात्मा गांधी
Rajesh
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
ज़िंदगी इतनी मुश्किल भी नहीं
ज़िंदगी इतनी मुश्किल भी नहीं
Dheerja Sharma
हवन - दीपक नीलपदम्
हवन - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
सुनो पहाड़ की.....!!! (भाग - ४)
सुनो पहाड़ की.....!!! (भाग - ४)
Kanchan Khanna
*चले जब देश में अनगिन, लिए चरखा पहन खादी (मुक्तक)*
*चले जब देश में अनगिन, लिए चरखा पहन खादी (मुक्तक)*
Ravi Prakash
पिता
पिता
Dr Parveen Thakur
জীবনের অর্থ এক এক জনের কাছে এক এক রকম। জীবনের অর্থ হল আপনার
জীবনের অর্থ এক এক জনের কাছে এক এক রকম। জীবনের অর্থ হল আপনার
Sakhawat Jisan
तू जो लुटाये मुझपे वफ़ा
तू जो लुटाये मुझपे वफ़ा
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ज़ब तक धर्मों मे पाप धोने की व्यवस्था है
ज़ब तक धर्मों मे पाप धोने की व्यवस्था है
शेखर सिंह
फूल कभी भी बेजुबाॅ॑ नहीं होते
फूल कभी भी बेजुबाॅ॑ नहीं होते
VINOD CHAUHAN
😊 सियासी शेखचिल्ली😊
😊 सियासी शेखचिल्ली😊
*Author प्रणय प्रभात*
*बाल गीत (मेरा मन)*
*बाल गीत (मेरा मन)*
Rituraj shivem verma
आज का चयनित छंद
आज का चयनित छंद"रोला"अर्ध सम मात्रिक
rekha mohan
Aaj Aankhe nam Hain,🥹
Aaj Aankhe nam Hain,🥹
SPK Sachin Lodhi
अन्तर्राष्ट्रीय नर्स दिवस
अन्तर्राष्ट्रीय नर्स दिवस
Dr. Kishan tandon kranti
उसे भुलाने के सभी,
उसे भुलाने के सभी,
sushil sarna
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Shyam Sundar Subramanian
अश्रुऔ की धारा बह रही
अश्रुऔ की धारा बह रही
Harminder Kaur
Loading...