Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2024 · 1 min read

अपनों को दे फायदा ,

अपनों को दे फायदा ,
औरों का हक मार ।
जनता को ही लूटती,
जनता की सरकार ।।

सुशील सरना / 11-2-24

63 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
मिसाल उन्हीं की बनती है,
मिसाल उन्हीं की बनती है,
Dr. Man Mohan Krishna
****बसंत आया****
****बसंत आया****
Kavita Chouhan
मिला है जब से साथ तुम्हारा
मिला है जब से साथ तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
🌹🌹🌹फितरत 🌹🌹🌹
🌹🌹🌹फितरत 🌹🌹🌹
umesh mehra
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Mamta Rani
* जगो उमंग में *
* जगो उमंग में *
surenderpal vaidya
मलाल न था
मलाल न था
Dr fauzia Naseem shad
"सूप"
Dr. Kishan tandon kranti
तुम्हारी निगाहें
तुम्हारी निगाहें
इंजी. संजय श्रीवास्तव
#आज_का_सबक़
#आज_का_सबक़
*Author प्रणय प्रभात*
दिल से ….
दिल से ….
Rekha Drolia
सत्यता वह खुशबू का पौधा है
सत्यता वह खुशबू का पौधा है
प्रेमदास वसु सुरेखा
ये रंगो सा घुल मिल जाना,वो खुशियों भरा इजहार कर जाना ,फिजाओं
ये रंगो सा घुल मिल जाना,वो खुशियों भरा इजहार कर जाना ,फिजाओं
Shashi kala vyas
चलना है मगर, संभलकर...!
चलना है मगर, संभलकर...!
VEDANTA PATEL
दोहा त्रयी. . . . .
दोहा त्रयी. . . . .
sushil sarna
खता खतों की नहीं थीं , लम्हों की थी ,
खता खतों की नहीं थीं , लम्हों की थी ,
Manju sagar
हम इतने सभ्य है कि मत पूछो
हम इतने सभ्य है कि मत पूछो
ruby kumari
शासक की कमजोरियों का आकलन
शासक की कमजोरियों का आकलन
Mahender Singh
गिनती
गिनती
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मेरी निजी जुबान है, हिन्दी ही दोस्तों
मेरी निजी जुबान है, हिन्दी ही दोस्तों
SHAMA PARVEEN
*कहां किसी को मुकम्मल जहां मिलता है*
*कहां किसी को मुकम्मल जहां मिलता है*
Harminder Kaur
*आध्यात्मिक साहित्यिक संस्था काव्यधारा, रामपुर (उत्तर प्रदेश
*आध्यात्मिक साहित्यिक संस्था काव्यधारा, रामपुर (उत्तर प्रदेश
Ravi Prakash
23/29.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/29.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कारगिल युद्ध फतह दिवस
कारगिल युद्ध फतह दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
What consumes your mind controls your life
What consumes your mind controls your life
पूर्वार्थ
हमको नहीं गम कुछ भी
हमको नहीं गम कुछ भी
gurudeenverma198
सुधार आगे के लिए परिवेश
सुधार आगे के लिए परिवेश
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
डॉ अरुण कुमार शास्त्री 👌💐👌
डॉ अरुण कुमार शास्त्री 👌💐👌
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मोहब्बतों की डोर से बँधे हैं
मोहब्बतों की डोर से बँधे हैं
Ritu Asooja
Loading...