Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 May 2024 · 1 min read

अगर कभी मिलना मुझसे

अगर कभी मिलना मुझसे
तो कबीर की उस पतली सी गली में मिलना
जिसमें दो लोग नहीं समाते !
-आकाश अगम

39 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वो अजनबी झोंका
वो अजनबी झोंका
Shyam Sundar Subramanian
मुझे तुमसे प्यार हो गया,
मुझे तुमसे प्यार हो गया,
Dr. Man Mohan Krishna
लिख सकता हूँ ।।
लिख सकता हूँ ।।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
"राज़-ए-इश्क़" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
*नकली दाँतों से खाते हैं, साठ साल के बाद (हिंदी गजल/गीतिका)*
*नकली दाँतों से खाते हैं, साठ साल के बाद (हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
■ पाठक बचे न श्रोता।
■ पाठक बचे न श्रोता।
*प्रणय प्रभात*
हिन्दी ग़ज़़लकारों की अंधी रति + रमेशराज
हिन्दी ग़ज़़लकारों की अंधी रति + रमेशराज
कवि रमेशराज
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कड़वा सच
कड़वा सच
Jogendar singh
लक्ष्मी
लक्ष्मी
Bodhisatva kastooriya
हाइपरटेंशन
हाइपरटेंशन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
2122 1212 22/112
2122 1212 22/112
SZUBAIR KHAN KHAN
जैसे आँखों को
जैसे आँखों को
Shweta Soni
खुद की तलाश
खुद की तलाश
Madhavi Srivastava
दिल में मेरे
दिल में मेरे
हिमांशु Kulshrestha
02/05/2024
02/05/2024
Satyaveer vaishnav
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Neelofar Khan
*बांहों की हिरासत का हकदार है समझा*
*बांहों की हिरासत का हकदार है समझा*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
*मंज़िल पथिक और माध्यम*
*मंज़िल पथिक और माध्यम*
Lokesh Singh
कविता
कविता
Sushila joshi
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
योगी?
योगी?
Sanjay ' शून्य'
मुस्कुरायें तो
मुस्कुरायें तो
sushil sarna
कोहली किंग
कोहली किंग
पूर्वार्थ
*नववर्ष*
*नववर्ष*
Dr. Priya Gupta
प्रथम किरण नव वर्ष की।
प्रथम किरण नव वर्ष की।
Vedha Singh
टूटने का मर्म
टूटने का मर्म
Surinder blackpen
"तुम इंसान हो"
Dr. Kishan tandon kranti
हे ! भाग्य विधाता ,जग के रखवारे ।
हे ! भाग्य विधाता ,जग के रखवारे ।
Buddha Prakash
माँ भारती की पुकार
माँ भारती की पुकार
लक्ष्मी सिंह
Loading...