Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Mar 2024 · 1 min read

“अकेलापन”

“अकेलापन”
आज रात की चुप्पी में, अकेलापन की आवाजें,
सितारों से बातें करता, ख्यालों में खोया हुआ पुष्पराज।

धुंधले से गलियों में, चलता हूँ अकेला,
खोजता हूँ खुद को, मिटती अपनी तन्हाई का गिला।

हवा के साथ संगीत, रूह को छू जाता है,
अकेलापन की गहराई, दिल डूब जाता है।

चाँदनी की किरणों में, सपनों की डोर खोलता,
अकेलापन के साथी, अपनी राह को ढूंढता।

स्वप्नों की उड़ान में, आज़ादी का एहसास,
अकेलापन की राहों में, अपना कोई नहीं साथ।।

“पुष्पराज फूलदास अनंत”

47 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बात जो दिल में है
बात जो दिल में है
Shivkumar Bilagrami
विश्व कप-2023 का सबसे लंबा छक्का किसने मारा?
विश्व कप-2023 का सबसे लंबा छक्का किसने मारा?
World Cup-2023 Top story (विश्वकप-2023, भारत)
जागृति
जागृति
Shyam Sundar Subramanian
2554.पूर्णिका
2554.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
बगावत की बात
बगावत की बात
AJAY PRASAD
#आलेख-
#आलेख-
*Author प्रणय प्रभात*
हरि से मांगो,
हरि से मांगो,
Satish Srijan
दस्तूर ए जिंदगी
दस्तूर ए जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
"कष्ट"
नेताम आर सी
सारा रा रा
सारा रा रा
Sanjay ' शून्य'
गुस्सा दिलाकर ,
गुस्सा दिलाकर ,
Umender kumar
लोगों को सफलता मिलने पर खुशी मनाना जितना महत्वपूर्ण लगता है,
लोगों को सफलता मिलने पर खुशी मनाना जितना महत्वपूर्ण लगता है,
Paras Nath Jha
करो खुद पर यकीं
करो खुद पर यकीं
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
usne kuchh is tarah tarif ki meri.....ki mujhe uski tarif pa
usne kuchh is tarah tarif ki meri.....ki mujhe uski tarif pa
Rakesh Singh
dr arun kumar shastri
dr arun kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
भूतपूर्व (हास्य-व्यंग्य)
भूतपूर्व (हास्य-व्यंग्य)
Ravi Prakash
मन की आँखें खोल
मन की आँखें खोल
Kaushal Kumar Pandey आस
हर एक भाषण में दलीलें लाखों होती है
हर एक भाषण में दलीलें लाखों होती है
कवि दीपक बवेजा
//सुविचार//
//सुविचार//
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
छह दिसबंर / MUSAFIR BAITHA
छह दिसबंर / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
Mujhe laga tha ki meri talash tum tak khatam ho jayegi
Mujhe laga tha ki meri talash tum tak khatam ho jayegi
Sakshi Tripathi
I know people around me a very much jealous to me but I am h
I know people around me a very much jealous to me but I am h
Ankita Patel
लटकते ताले
लटकते ताले
Kanchan Khanna
किस बात का गुमान है यारो
किस बात का गुमान है यारो
Anil Mishra Prahari
*
*"शिव आराधना"*
Shashi kala vyas
दोहा
दोहा
प्रीतम श्रावस्तवी
कैसै कह दूं
कैसै कह दूं
Dr fauzia Naseem shad
"अजातशत्रु"
Dr. Kishan tandon kranti
तू बस झूम…
तू बस झूम…
Rekha Drolia
#जिन्दगी ने मुझको जीना सिखा दिया#
#जिन्दगी ने मुझको जीना सिखा दिया#
rubichetanshukla 781
Loading...