साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: शालिनी सिंह

शालिनी सिंह
Posts 5
Total Views 1,398
I am doctor by profession. I love poetry in all its form. I believe poetry is the boldest and most honest form of writing. I write in Hindi, Urdu and English .

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

मैं और तुम

मैं तुझ से हूँ तु भी है मुझ से क्यूँ बीच लकीर खींच हम [...]

कैसी आज़ादी

यह कैसी आज़ादी माँग रहे यह कैसी आज़ादी का नारा है एक 'सोच' की [...]

सच कहा आपने……….यादव जी!

अरे सच कहने पर भला आप माफ़ी क्यों माँगे शरद यादव जी? बिना [...]

इस बसन्त

इस बसन्त बीत जाये ठिठुरन रिश्तों की मन का भ्रमर पूछे फिर [...]

कब तक

कभी सती बना चिता में जला दिया कभी जौहर के कुंड मे कूदा [...]