साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Deepesh Dwivedi

Deepesh Dwivedi
Posts 14
Total Views 237
साहित्य,दर्शन एवं अध्यात्म मे विशेष रुचि। 30 वर्षो से राजभाषा कार्मिक। गृहपत्रिका एवं सामयीकियों मे कतिपय रचनाओं का प्रकाशन।

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

मुक्ति कैसे पाऊँ मैं?

मन भटकता किस तरह समझाऊँ मैं? माँ!तुम्हारे द्वार कैसे आऊँ [...]

बोलो वंदे मातरम

बलिदानों का दुर्लभ अवसर कहीं न जाए बीत पहन बसंती चोला कवि अब [...]

चलाचली

यह भी व्यतीत हो जाएंगे ज्यों वे स्वर्णिम क्षण बीत गए [...]

पाल रहे हैं

मस्जिद से मयकशों को जो निकाल रहे हैं महफ़िल में वो ख़ुद ही शराब [...]

आकाश पढ़ा करते हैं

बीती घटनाओं का इतिहास पढ़ा करते हैं आजकल रोज़ हम आकाश पढ़ा करते [...]

इश्क़ का फलसफ़ा

मुहब्बत तो इबादत है तिजारत इसको मत कहिए ये जज़बाती हक़ीक़त है [...]

हमारी हिंदी

नानक कबीर सूर तुलसी बिहारी मीरा जायसी रहीम रसखान की ये भाषा [...]

चाँद फिर

चाँद फ़िर बढ़ते-बढ़ते घट गया है सफ़र भी मुख्त्सर था कट गया [...]

वर्षगांठ अन्वेषा की

अन्वी तुम आई जीवन मे तो मेरा शैशव लौट आया तेरी मीठी किलकारी [...]

विडंबना

क्यों कविता पर पहरे लगते?क्यों गीत को कारावास मिले? क्यों [...]

मन वृंदावन हो गया मेरा

तुमने हमको ऐसे देखा बस परिवर्तन हो गया मेरा पतझड़ सावन होगया [...]

ग़ज़ल

वो कहते हैं हम तो ख़ुदा हो गए हैं ख़ुदा जाने वो क्या से क्या हो [...]

आसरा

जिंदगी के हर ज़हर को मय समझकर पी गया, दर्द जब हद से बढ़ा तो होंठ [...]

सृजन

जब सतरंगी सपना कोई,अक्सर मन को छल जाता है; जब शहनाई के मधुर [...]