Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Mar 2023 · 1 min read

The blue sky !

The Sky is spreaded wide,
It’s the Clouds house,
Birds fly freely in the sky,
The blue sky! The blue sky !

The Sky is situated at far height,
Airways routes in the sky,
Aeroplane can fly so high,
The blue sky! The blue sky!

Written by-
Buddha Prakash,
Maudaha Hamirpur(U.P.)

Language: English
1 Like · 171 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Buddha Prakash
View all
You may also like:
ये रात है जो तारे की चमक बिखरी हुई सी
ये रात है जो तारे की चमक बिखरी हुई सी
Befikr Lafz
साहित्यकार ओमप्रकाश वाल्मीकि का रचना संसार।
साहित्यकार ओमप्रकाश वाल्मीकि का रचना संसार।
Dr. Narendra Valmiki
यह जो आँखों में दिख रहा है
यह जो आँखों में दिख रहा है
कवि दीपक बवेजा
*डायरी के कुछ प्रष्ठ (कहानी)*
*डायरी के कुछ प्रष्ठ (कहानी)*
Ravi Prakash
रोम रोम है पुलकित मन
रोम रोम है पुलकित मन
sudhir kumar
16- उठो हिन्द के वीर जवानों
16- उठो हिन्द के वीर जवानों
Ajay Kumar Vimal
शब्द✍️ नहीं हैं अनकहे😷
शब्द✍️ नहीं हैं अनकहे😷
डॉ० रोहित कौशिक
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
8) दिया दर्द वो
8) दिया दर्द वो
पूनम झा 'प्रथमा'
आत्मनिर्भर नारी
आत्मनिर्भर नारी
Anamika Tiwari 'annpurna '
कैसा कोलाहल यह जारी है....?
कैसा कोलाहल यह जारी है....?
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
“दूल्हे की परीक्षा – मिथिला दर्शन” (संस्मरण -1974)
“दूल्हे की परीक्षा – मिथिला दर्शन” (संस्मरण -1974)
DrLakshman Jha Parimal
कान्हा तेरी मुरली है जादूभरी
कान्हा तेरी मुरली है जादूभरी
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
शिवा कहे,
शिवा कहे, "शिव" की वाणी, जन, दुनिया थर्राए।
SPK Sachin Lodhi
झरते फूल मोहब्ब्त के
झरते फूल मोहब्ब्त के
Arvina
क्या यह महज संयोग था या कुछ और.... (3)
क्या यह महज संयोग था या कुछ और.... (3)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मां चंद्रघंटा
मां चंद्रघंटा
Mukesh Kumar Sonkar
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सज जाऊं तेरे लबों पर
सज जाऊं तेरे लबों पर
Surinder blackpen
जिंदगी बेहद रंगीन है और कुदरत का करिश्मा देखिए लोग भी रंग बद
जिंदगी बेहद रंगीन है और कुदरत का करिश्मा देखिए लोग भी रंग बद
Rekha khichi
सहारा
सहारा
Neeraj Agarwal
🙅आज पता चला🙅
🙅आज पता चला🙅
*प्रणय प्रभात*
तू सीमा बेवफा है
तू सीमा बेवफा है
gurudeenverma198
ग़ज़ल/नज़्म - मैं बस काश! काश! करते-करते रह गया
ग़ज़ल/नज़्म - मैं बस काश! काश! करते-करते रह गया
अनिल कुमार
उदास हूं मैं आज...?
उदास हूं मैं आज...?
Sonit Parjapati
"महत्वाकांक्षा"
Dr. Kishan tandon kranti
दर्द  जख्म कराह सब कुछ तो हैं मुझ में
दर्द जख्म कराह सब कुछ तो हैं मुझ में
Ashwini sharma
बहादुर बेटियाँ
बहादुर बेटियाँ
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
ख़राब आदमी
ख़राब आदमी
Dr MusafiR BaithA
मुक्तक
मुक्तक
गुमनाम 'बाबा'
Loading...