Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Mar 2023 · 1 min read

Teri gunehgar hu mai ,

Teri gunehgar hu mai ,
Tujhe ,tujhse bina ijajat liye chah baithi.
Chahe ab jo bhi saja do manjur hai
Teri bus ho jau , ab itna sa mera wajud hai.
By sakshi 😍

101 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
टुलिया........... (कहानी)
टुलिया........... (कहानी)
लालबहादुर चौरसिया 'लाल'
त्राहि-त्राहि भगवान( कुंडलिया )
त्राहि-त्राहि भगवान( कुंडलिया )
Ravi Prakash
समझदारी का तो पूछिए ना जनाब,
समझदारी का तो पूछिए ना जनाब,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
दोहे तरुण के।
दोहे तरुण के।
Pankaj sharma Tarun
जलजला
जलजला
Satish Srijan
पल भर की खुशी में गम
पल भर की खुशी में गम
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
माघी दोहे ....
माघी दोहे ....
डॉ.सीमा अग्रवाल
कोई उम्मीद
कोई उम्मीद
Dr fauzia Naseem shad
सारा रा रा
सारा रा रा
Sanjay
"चिराग"
Ekta chitrangini
युद्ध नहीं जिनके जीवन में,
युद्ध नहीं जिनके जीवन में,
Sandeep Mishra
मैं अचानक चुप हो जाती हूँ
मैं अचानक चुप हो जाती हूँ
ruby kumari
मेरा विषय साहित्य नहीं है
मेरा विषय साहित्य नहीं है
Ankita Patel
"होरी"
Dr. Kishan tandon kranti
कहमुकरी
कहमुकरी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
शांतिवार्ता
शांतिवार्ता
Prakash Chandra
ਮੁੰਦਰੀ ਵਿੱਚ ਨਗ ਮਾਹੀਆ।
ਮੁੰਦਰੀ ਵਿੱਚ ਨਗ ਮਾਹੀਆ।
Surinder blackpen
तुम हारिये ना हिम्मत
तुम हारिये ना हिम्मत
gurudeenverma198
नया फरमान
नया फरमान
Shekhar Chandra Mitra
जिक्र क्या जुबा पर नाम नही
जिक्र क्या जुबा पर नाम नही
पूर्वार्थ
101…. छंद रत्नाकर
101…. छंद रत्नाकर
Rambali Mishra
2298.पूर्णिका
2298.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
// होली में ......
// होली में ......
Chinta netam " मन "
क़यामत
क़यामत
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
बुद्ध भगवन्
बुद्ध भगवन्
Buddha Prakash
Ek abodh balak
Ek abodh balak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
#यदा_कदा_संवाद_मधुर, #छल_का_परिचायक।
#यदा_कदा_संवाद_मधुर, #छल_का_परिचायक।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
■ आस्था के आयाम...
■ आस्था के आयाम...
*Author प्रणय प्रभात*
राह हूं या राही हूं या मंजिल हूं राहों की
राह हूं या राही हूं या मंजिल हूं राहों की
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
💐प्रेम कौतुक-230💐
💐प्रेम कौतुक-230💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...