Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jan 2024 · 1 min read

Temple of Raam

-Ram Mandir

Everyone did it, from old people to children.
Waiting for.
From village to city,
For which everyone was desperate.

The moment has come for Ram Lala’s coronation.
A wave of new happiness spread everywhere.

22nd January was definitely an auspicious moment.
Preparations for consecration are going on in full swing.

Saffron will wave on every house.
Every child will light a lamp

The flowers will be bound from door to door.
Will decorate the door with rangoli.

Will offer laddus and barfi.
Bhajan will be sung by Ram Lala.

The hard penance of 500 years came true today.
The temple was completed with the sacrifice of the lives of lakhs of Kar Sevaks.

Ram temple construction new in Ayodhya
The era has brought change.
Many congratulations to every Indian.

Sandhya Chaturvedi
Mathura, Up

Language: English
1 Like · 1 Comment · 91 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सच और झूँठ
सच और झूँठ
विजय कुमार अग्रवाल
तुम्हारे स्वप्न अपने नैन में हर पल संजोती हूँ
तुम्हारे स्वप्न अपने नैन में हर पल संजोती हूँ
Dr Archana Gupta
"याद तुम्हारी आती है"
Dr. Kishan tandon kranti
जब मुझसे मिलने आना तुम
जब मुझसे मिलने आना तुम
Shweta Soni
#गीत
#गीत
*Author प्रणय प्रभात*
*दासता जीता रहा यह, देश निज को पा गया (मुक्तक)*
*दासता जीता रहा यह, देश निज को पा गया (मुक्तक)*
Ravi Prakash
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Neelam Sharma
अनचाहे अपराध व प्रायश्चित
अनचाहे अपराध व प्रायश्चित
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
छंद
छंद
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
सत्य पर चलना बड़ा कठिन है
सत्य पर चलना बड़ा कठिन है
Udaya Narayan Singh
জীবন চলচ্চিত্রের একটি খালি রিল, যেখানে আমরা আমাদের ইচ্ছামত গ
জীবন চলচ্চিত্রের একটি খালি রিল, যেখানে আমরা আমাদের ইচ্ছামত গ
Sakhawat Jisan
शांति के लिए अगर अन्तिम विकल्प झुकना
शांति के लिए अगर अन्तिम विकल्प झुकना
Paras Nath Jha
व्यथा दिल की
व्यथा दिल की
Devesh Bharadwaj
सतशिक्षा रूपी धनवंतरी फल ग्रहण करने से
सतशिक्षा रूपी धनवंतरी फल ग्रहण करने से
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
हस्ती
हस्ती
Shyam Sundar Subramanian
स्त्री का प्रेम ना किसी का गुलाम है और ना रहेगा
स्त्री का प्रेम ना किसी का गुलाम है और ना रहेगा
प्रेमदास वसु सुरेखा
When the ways of this world are, but
When the ways of this world are, but
Dhriti Mishra
उस दर्द की बारिश मे मै कतरा कतरा बह गया
उस दर्द की बारिश मे मै कतरा कतरा बह गया
'अशांत' शेखर
पापा , तुम बिन जीवन रीता है
पापा , तुम बिन जीवन रीता है
Dilip Kumar
3044.*पूर्णिका*
3044.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चन्द्रयान-3
चन्द्रयान-3
कार्तिक नितिन शर्मा
धुंध छाई उजाला अमर चाहिए।
धुंध छाई उजाला अमर चाहिए।
Rajesh Tiwari
वक्त
वक्त
Ramswaroop Dinkar
वक्त और हालात जब साथ नहीं देते हैं।
वक्त और हालात जब साथ नहीं देते हैं।
Manoj Mahato
जिंदगी आंदोलन ही तो है
जिंदगी आंदोलन ही तो है
gurudeenverma198
अभी दिल भरा नही
अभी दिल भरा नही
Ram Krishan Rastogi
नदियां
नदियां
manjula chauhan
बेमेल कथन, फिजूल बात
बेमेल कथन, फिजूल बात
Dr MusafiR BaithA
Happy new year 2024
Happy new year 2024
Ranjeet kumar patre
" वतन "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
Loading...