Nov 24, 2021 · 1 min read

Poetry

I like you
I love you
Can’t live without you
You’re my poetry

You give me peace
Feel good with you
I need you
You’re my poetry

When I feel blues
Find you near me
You titillate me
You’re my poetry

When I feel sad
Tears blows
You give me napkin
You’re my poetry

On occasion of happiness
When I smile
You also smile
You’re my poetry

When not sleepy
You sing lullabies
To make me sleep
You’re my poetry

Ashwani Kumar Jaiswal Knp 9044134297

3 Likes · 2 Comments · 148 Views
You may also like:
किसान
Shriyansh Gupta
मेरे पापा
ओनिका सेतिया 'अनु '
उन्हें आज वृद्धाश्रम छोड़ आये
Manisha Manjari
तुम धूप छांव मेरे हिस्से की
Saraswati Bajpai
Is It Possible
Manisha Manjari
मृत्यु के बाद भी मिर्ज़ा ग़ालिब लोकप्रिय हैं
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सीख
Pakhi Jain
सितम पर सितम।
Taj Mohammad
लिहाज़
पंकज कुमार "कर्ण"
पिता की अभिलाषा
मनोज कर्ण
पिता भगवान का अवतार होता है।
Taj Mohammad
💐आत्म साक्षात्कार💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
श्री राम
नवीन जोशी 'नवल'
🌺🌺🌺शायद तुम ही मेरी मंजिल हो🌺🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
फीका त्यौहार
पाण्डेय चिदानन्द
"क़तरा"
Ajit Kumar "Karn"
मज़दूर की महत्ता
Dr. Alpa H.
उस दिन
Alok Saxena
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता हैं [भाग८]
Anamika Singh
विश्व पृथ्वी दिवस
Dr Archana Gupta
बसन्त बहार
N.ksahu0007@writer
गांव शहर और हम ( कर्मण्य)
Shyam Pandey
दिल और गुलाब
Vikas Sharma'Shivaaya'
दुनिया पहचाने हमें जाने के बाद...
Dr. Alpa H.
डगर कठिन हो बेशक मैं तो कदम कदम मुस्काता हूं
VINOD KUMAR CHAUHAN
ग़म की ऐसी रवानी....
अश्क चिरैयाकोटी
पिता
Dr. Kishan Karigar
अँधेरा बन के बैठा है
आकाश महेशपुरी
नफरत की राजनीति...
मनोज कर्ण
हम और तुम जैसे…..
Rekha Drolia
Loading...