Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Mar 2023 · 1 min read

Phoolo ki wo shatir kaliya

Phoolo ki wo shatir kaliya
Lagi jhulne dal dal par.
Kbhi khilti kbhi murjha jati
Chhoti si wo bat par
Mitti me jo palti hai
Gagan me khilna chahe wo ab
Sitaro sa khab liye man me
Ab aage badhna chahe par
Raho me shaitan bahut hai
Tufano se bhari dagar hai
Soch me dubi wo kali fir
Kaise khab sajaye ab .

67 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-471💐
💐प्रेम कौतुक-471💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मिमियाने की आवाज
मिमियाने की आवाज
Dr Nisha nandini Bhartiya
तेरी मधुशाला
तेरी मधुशाला
Satish Srijan
"पंखों वाला घोड़ा"
Dr. Kishan tandon kranti
Ye Sidhiyo ka safar kb khatam hoga
Ye Sidhiyo ka safar kb khatam hoga
Sakshi Tripathi
सपन सुनहरे आँज कर, दे नयनों को चैन ।
सपन सुनहरे आँज कर, दे नयनों को चैन ।
डॉ.सीमा अग्रवाल
फ़साना-ए-उल्फ़त सुनाते सुनाते
फ़साना-ए-उल्फ़त सुनाते सुनाते
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
महादेव ने समुद्र मंथन में निकले विष
महादेव ने समुद्र मंथन में निकले विष
Dr.Rashmi Mishra
अफ़ीम का नशा
अफ़ीम का नशा
Shekhar Chandra Mitra
चाह
चाह
Dr. Rajiv
तुमने देखा ही नहीं
तुमने देखा ही नहीं
Surinder blackpen
मिले तो हम उनसे पहली बार
मिले तो हम उनसे पहली बार
DrLakshman Jha Parimal
🌹मां ममता की पोटली
🌹मां ममता की पोटली
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मुझे लगता था
मुझे लगता था
ruby kumari
भूलाया नहीं जा सकता कभी
भूलाया नहीं जा सकता कभी
gurudeenverma198
■ आज का दोहा
■ आज का दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
फिर भी करना है संघर्ष !
फिर भी करना है संघर्ष !
जगदीश लववंशी
आँख अब भरना नहीं है
आँख अब भरना नहीं है
Vinit kumar
मैथिली पेटपोसुआ के गोंधियागिरी?
मैथिली पेटपोसुआ के गोंधियागिरी?
Dr. Kishan Karigar
गज़ल
गज़ल
Mahendra Narayan
बसंत
बसंत
नूरफातिमा खातून नूरी
तू रूठा मैं टूट गया_ हिम्मत तुमसे सारी थी।
तू रूठा मैं टूट गया_ हिम्मत तुमसे सारी थी।
Rajesh vyas
इश्क मुकम्मल करके निकला
इश्क मुकम्मल करके निकला
कवि दीपक बवेजा
मुक्तक
मुक्तक
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
दाता
दाता
निकेश कुमार ठाकुर
श्री विध्नेश्वर
श्री विध्नेश्वर
Shashi kala vyas
#आलिंगनदिवस
#आलिंगनदिवस
सत्य कुमार प्रेमी
ताजा भोजन जो मिला, समझो है वरदान (कुंडलिया)
ताजा भोजन जो मिला, समझो है वरदान (कुंडलिया)
Ravi Prakash
धरती को‌ हम स्वर्ग बनायें
धरती को‌ हम स्वर्ग बनायें
Chunnu Lal Gupta
' समय का महत्व '
' समय का महत्व '
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
Loading...