Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

Only for L

तुमसे कितनी बातें करनी थी दिल की
उफ्फ ये हमारे बीच की दूरियां
ना जाने कब खत्म होगी
तुम मुझे छोड़ गई यहां
अपनी यादों की गलियों मैं
मैं जब भी देखता हुं कोई
दुकान , मोहल्ला मुझे तुम दिखाई देती हो
मेरे पर हंसते हुए,
मैं और मेरा ये मकान
जो कभी
तेरे आने पर घर हुआ करता था
अब आश लगाए रहता है
तुम आओगी भी या नहीं
ये चारपाई , बिस्तर
और मैं खुद भी तेरा स्पर्श ,और तेरी रूह
बालो की वो मेंहदी वाली गंध
क्यों नहीं भूल जाता तेरी
ये मेरा दिल
जानना चाहता है
तुम भी मुझे आज भी
वही प्यार करती हो
या मैं और मेरी रूह को तुम भूल गई हो
दूसरी दुनिया में जाने के बाद ।
उफ्फ मेरा तेरे लिए ये प्यार
कही ये आखरी रात
और तेरी यादों की आखरी सास
इस बिस्तर पर ना चली जाय ।

1 Comment · 102 Views
You may also like:
✍️पैरो तले ज़मी✍️
'अशांत' शेखर
उड़ जाएगा एक दिन पंछी, धुआं धुआं हो जाएगा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
" समुद्री बादल "
Dr Meenu Poonia
भारत माँ पे अर्पित कर दूँ
Swami Ganganiya
जब जब ही मैंने समझा आसान जिंदगी को।
सत्य कुमार प्रेमी
💐ये मेरी आशिकी💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
** The Highway road **
Buddha Prakash
बुद्ध भगवान की शिक्षाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
उसकी बातें
Sandeep Albela
ये वतन हमारा है
Dr fauzia Naseem shad
मौत
Alok Saxena
दिल की सुनाएं आप जऱा लौट आइए।
सत्य कुमार प्रेमी
सीधे सीधे कहते हैं।
Taj Mohammad
"लाइलाज दर्द"
DESH RAJ
*सारथी बनकर केशव आओ (भक्ति-गीत)*
Ravi Prakash
ईद मनाते हैं।
Taj Mohammad
[ कुण्डलिया]
शेख़ जाफ़र खान
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
अपने दिल से
Dr fauzia Naseem shad
दुआ
Alok Saxena
★TIME IS THE TEACHER OF HUMAN ★
KAMAL THAKUR
चौपाई छंद में सौलह मात्राओं का सही गठन
Subhash Singhai
✍️तंगदिली✍️
'अशांत' शेखर
✍️चार कदम जिंदगी✍️
'अशांत' शेखर
🌺🍀सुखं इच्छाकर्तारं कदापि शान्ति: न मिलति🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
शिव शम्भु
Anamika Singh
सिंधु का विस्तार देखो
surenderpal vaidya
अचार का स्वाद
Buddha Prakash
✍️वो कौन है ✍️
Vaishnavi Gupta
प्रतीक्षा करना पड़ता।
Vijaykumar Gundal
Loading...