Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Mar 2023 · 1 min read

💐Prodigy Love-37💐

Oh Dear!
Life has a short trip.
And every person,in this trip,is wandering.
Is person awaken in internally?
Then,he pray the true love within.
With suitable aim that we will make this true love sacred.
Drive away from world and let dive in your soul with your acumen.
You feel waves in subtle mind.
Slowly.Slowly.
Enjoy it,slowly.
All mysteries will come in front of us.
Not only we will see but it will also catch energy.
This energy will control our path.
This path will necessitate all the programs.
It creates quantum leap.
By which,we make true love .
Will prevail.
True Love.
Truth.
And your smile.

“Abhishek Parashar “Aanand”

Language: Hindi
149 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मुर्गा बेचारा...
मुर्गा बेचारा...
मनोज कर्ण
💐अज्ञात के प्रति-53💐
💐अज्ञात के प्रति-53💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
🌷🧑‍⚖️हिंदी इन माय इंट्रो🧑‍⚖️⚘️
🌷🧑‍⚖️हिंदी इन माय इंट्रो🧑‍⚖️⚘️
Ms.Ankit Halke jha
दिया
दिया
Anamika Singh
हिन्दी भाषा
हिन्दी भाषा
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
फूल खिलते जा रहे
फूल खिलते जा रहे
surenderpal vaidya
✍️अंजाना फ़ासला✍️
✍️अंजाना फ़ासला✍️
'अशांत' शेखर
नवरात्रि पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏
नवरात्रि पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
छोटी सी दुनिया
छोटी सी दुनिया
shabina. Naaz
“ जियो और जीने दो ”
“ जियो और जीने दो ”
DrLakshman Jha Parimal
गुमूस्सेर्वी
गुमूस्सेर्वी "Gümüşservi "- One of the most beautiful words of the world.
अमित कुमार
माँ
माँ
Dr. Pradeep Kumar Sharma
★उसकी यादों का साया★
★उसकी यादों का साया★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
"होरी"
Dr. Kishan tandon kranti
जब हवाएँ तेरे शहर से होकर आती हैं।
जब हवाएँ तेरे शहर से होकर आती हैं।
Manisha Manjari
अंधेरे के सौदागर
अंधेरे के सौदागर
Shekhar Chandra Mitra
माँ का जग उपहार अनोखा
माँ का जग उपहार अनोखा
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
■ दोगले विधान
■ दोगले विधान
*Author प्रणय प्रभात*
नीरज…
नीरज…
Mahendra singh kiroula
कलयुग में भी गोपियाँ कैसी फरियाद /लवकुश यादव
कलयुग में भी गोपियाँ कैसी फरियाद /लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
2483.पूर्णिका
2483.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
उस सावन के इंतजार में कितने पतझड़ बीत गए
उस सावन के इंतजार में कितने पतझड़ बीत गए
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
मोहब्बत में।
मोहब्बत में।
Taj Mohammad
"फासले उम्र के" ‌‌
Chunnu Lal Gupta
खालीपन
खालीपन
जय लगन कुमार हैप्पी
देश के खातिर दिया जिन्होंने, अपना बलिदान
देश के खातिर दिया जिन्होंने, अपना बलिदान
gurudeenverma198
दुःख के संसार में
दुःख के संसार में
Buddha Prakash
*बना शहर को गई जलाशय, दो घंटे बरसात (गीत)*
*बना शहर को गई जलाशय, दो घंटे बरसात (गीत)*
Ravi Prakash
मिलेंगे लोग कुछ ऐसे गले हॅंसकर लगाते हैं।
मिलेंगे लोग कुछ ऐसे गले हॅंसकर लगाते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...