Jul 10, 2021 · 1 min read

O my dear dude!

O my dear dude!
Whenever your eyes nude,
Into my open eyes peep,
And find them mute.

Even then O my dear love- priest!
Get not depressed at least.

Try going there deep,
Inside my eyes cute.

And I assure you will there hear
Yourself talking aloud.
Why eyes should shed any tear
Why won’t vanish dejection- cloud.

136 Views
You may also like:
'विनाश' के बाद 'समझौता'... क्या फायदा..?
Dr. Alpa H.
छीन लिए है जब हक़ सारे तुमने
Ram Krishan Rastogi
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
श्री राम
नवीन जोशी 'नवल'
बंदर मामा गए ससुराल
Manu Vashistha
"एक नई सुबह आयेगी"
पंकज कुमार "कर्ण"
अभी तुम करलो मनमानियां।
Taj Mohammad
विषय:सूर्योपासना
Vikas Sharma'Shivaaya'
जीवन-रथ के सारथि_पिता
मनोज कर्ण
चंदा मामा बाल कविता
Ram Krishan Rastogi
खोलो मन की सारी गांठे
Saraswati Bajpai
!!! राम कथा काव्य !!!
जगदीश लववंशी
दर्पण!
सेजल गोस्वामी
"साहिल"
Dr. Alpa H.
चूँ-चूँ चूँ-चूँ आयी चिड़िया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
ईश प्रार्थना
Saraswati Bajpai
💐💐प्रेम की राह पर-15💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नमन!
Shriyansh Gupta
सोए है जो कब्रों में।
Taj Mohammad
सृजन कर्ता है पिता।
Taj Mohammad
मन
शेख़ जाफ़र खान
'याद पापा आ गये मन ढाॅंपते से'
Rashmi Sanjay
माँ
Dr Archana Gupta
चिट्ठी का जमाना और अध्यापक
Mahender Singh Hans
अरविंद सवैया छन्द।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
बूँद-बूँद को तरसा गाँव
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सच का सामना
Shyam Sundar Subramanian
श्री राम स्तुति
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
सत् हंसवाहनी वर दे,
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मेरे पापा जैसे कोई....... है न ख़ुदा
Nitu Sah
Loading...