Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Apr 2022 · 1 min read

My Expressions

Strong Assertion yield to strong Desire and ultimate strong Will Power which boosts the Confidence level for strife to attainment of the Goal.

Language: English
Tag: Quotation
1 Like · 2 Comments · 223 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
Books from Shyam Sundar Subramanian
View all
You may also like:
कभी- कभी
कभी- कभी
Harish Chandra Pande
हम सब में एक बात है
हम सब में एक बात है
Yash mehra
मेरा यार आसमां के चांद की तरह है,
मेरा यार आसमां के चांद की तरह है,
Dushyant Kumar Patel
पुराने सिक्के
पुराने सिक्के
Satish Srijan
स्वर कटुक हैं / (नवगीत)
स्वर कटुक हैं / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
तेरे मन मंदिर में जगह बनाऊं मै कैसे
तेरे मन मंदिर में जगह बनाऊं मै कैसे
Ram Krishan Rastogi
नील गगन
नील गगन
नवीन जोशी 'नवल'
नशा कऽ क नहि गबावं अपन जान यौ
नशा कऽ क नहि गबावं अपन जान यौ
VY Entertainment
बदलता दौर
बदलता दौर
ओनिका सेतिया 'अनु '
जीवन से तम को दूर करो
जीवन से तम को दूर करो
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
घोंसले
घोंसले
Dr P K Shukla
मां
मां
Dr. Pradeep Kumar Sharma
कितने घर ख़ाक हो गये, तुमने
कितने घर ख़ाक हो गये, तुमने
Anis Shah
तकनीकी के अग्रदूत राजीव गांधी का शिक्षा के प्रति दृष्टिकोण
तकनीकी के अग्रदूत राजीव गांधी का शिक्षा के प्रति दृष्टिकोण
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
कहियो तऽ भेटब(भगवती गीत)
कहियो तऽ भेटब(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
बदला हुआ ज़माना है
बदला हुआ ज़माना है
Dr. Sunita Singh
प्यार भरी चांदनी रात
प्यार भरी चांदनी रात
नूरफातिमा खातून नूरी
विश्वास की मंजिल
विश्वास की मंजिल
Buddha Prakash
चंदा की डोली उठी
चंदा की डोली उठी
Shekhar Chandra Mitra
गम तारी है।
गम तारी है।
Taj Mohammad
✍️दरिया और समंदर✍️
✍️दरिया और समंदर✍️
'अशांत' शेखर
महाराणा प्रताप और बादशाह अकबर की मुलाकात
महाराणा प्रताप और बादशाह अकबर की मुलाकात
मोहित शर्मा ज़हन
वेदनामृत
वेदनामृत
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
महान क्रांतिवीरों को नमन
महान क्रांतिवीरों को नमन
जगदीश शर्मा सहज
प्रिय विरह - २
प्रिय विरह - २
लक्ष्मी सिंह
"सारे साथी" और
*Author प्रणय प्रभात*
*खुशी  (मुक्तक)*
*खुशी (मुक्तक)*
Ravi Prakash
" यादों की शमा"
Pushpraj Anant
रात में सो मत देरी
रात में सो मत देरी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
गुनाह लगता है किसी और को देखना
गुनाह लगता है किसी और को देखना
Trishika S Dhara
Loading...