Dec 17, 2021 · 1 min read

My Expressions

A true businessman never ponders on
losses incurred , but concentrates on making efforts in sustaining losses , and stand up again with greater zeal and zest .

105 Views
You may also like:
मैं बहती गंगा बन जाऊंगी।
Taj Mohammad
मिलन-सुख की गजल-जैसा तुम्हें फैसन ने ढाला है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
रिश्ते
कुलदीप दहिया "मरजाणा दीप"
ब्रेक अप
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
तुम्हीं हो पापा
Krishan Singh
आपकी याद
Abhishek Upadhyay
पिता का कंधा याद आता है।
Taj Mohammad
अभी तुम करलो मनमानियां।
Taj Mohammad
सुबह आंख लग गई
Ashwani Kumar Jaiswal
💐प्रेम की राह पर-34💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*!* दिल तो बच्चा है जी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
हम और तुम जैसे…..
Rekha Drolia
💐 देह दलन 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
प्रार्थना
Anamika Singh
माँ
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
पिता का प्यार
pradeep nagarwal
कर तू कोशिश कई....
Dr. Alpa H.
अशोक विश्नोई एक विलक्षण साधक (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
चेहरा तुम्हारा।
Taj Mohammad
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग६]
Anamika Singh
ऐ जिंदगी कितने दाँव सिखाती हैं
Dr. Alpa H.
बेटियाँ
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
सुनो ! हे राम ! मैं तुम्हारा परित्याग करती हूँ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
नफरत की राजनीति...
मनोज कर्ण
बेकार ही रंग लिए।
Taj Mohammad
दिले यार ना मिलते हैं।
Taj Mohammad
//स्वागत है:२०२२//
Prabhudayal Raniwal
भगवान परशुराम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पवनपुत्र, हे ! अंजनि नंदन ....
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सच एक दिन
gurudeenverma198
Loading...