Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Apr 2023 · 1 min read

Mujhe laga tha ki meri talash tum tak khatam ho jayegi

Mujhe laga tha ki meri talash tum tak khatam ho jayegi
Par ye tumhare bad bi jari hai
Darde dil ki shifarish hum karte gye
Aur tum samajh hi na sake
Isme kusur meri bato ka hai
Ya tumhari samajh ka

1 Like · 3 Comments · 266 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
[ पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य ] अध्याय २.
[ पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य ] अध्याय २.
Pravesh Shinde
दिव्य काशी
दिव्य काशी
Pooja Singh
कभी संभालना खुद को नहीं आता था, पर ज़िन्दगी ने ग़मों को भी संभालना सीखा दिया।
कभी संभालना खुद को नहीं आता था, पर ज़िन्दगी ने ग़मों को भी संभालना सीखा दिया।
Manisha Manjari
💐प्रेम कौतुक-550💐
💐प्रेम कौतुक-550💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
लखनऊ शहर
लखनऊ शहर
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
दुश्मन जमाना बेटी का
दुश्मन जमाना बेटी का
लक्ष्मी सिंह
*मित्र बनाओ (कुंडलिया)*
*मित्र बनाओ (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मासूमियत
मासूमियत
Punam Pande
एक महान सती थी “पद्मिनी”
एक महान सती थी “पद्मिनी”
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
■ काव्यात्मक व्यंग्य / एक था शेर.....!!
■ काव्यात्मक व्यंग्य / एक था शेर.....!!
*Author प्रणय प्रभात*
#drarunkumarshastriblogger
#drarunkumarshastriblogger
DR ARUN KUMAR SHASTRI
दो शे'र
दो शे'र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
शिवाजी गुरु समर्थ रामदास – ईश्वर का संकेत और नारायण का गृहत्याग – 03
शिवाजी गुरु समर्थ रामदास – ईश्वर का संकेत और नारायण का गृहत्याग – 03
Sadhavi Sonarkar
नववर्ष तुम्हे मंगलमय हो
नववर्ष तुम्हे मंगलमय हो
Ram Krishan Rastogi
बेचैनियाँ फिर कभी
बेचैनियाँ फिर कभी
Dr fauzia Naseem shad
দারিদ্রতা ,রঙ্গভেদ ,
দারিদ্রতা ,রঙ্গভেদ ,
DrLakshman Jha Parimal
तपन ऐसी रखो
तपन ऐसी रखो
Ranjana Verma
खुद को मूर्ख बनाते हैं हम
खुद को मूर्ख बनाते हैं हम
Surinder blackpen
मिट्टी बस मिट्टी
मिट्टी बस मिट्टी
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
Dont judge by
Dont judge by
Vandana maurya
ए'तिराफ़-ए-'अहद-ए-वफ़ा
ए'तिराफ़-ए-'अहद-ए-वफ़ा
Shyam Sundar Subramanian
शुभ रात्रि
शुभ रात्रि
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
आ जाओ राम।
आ जाओ राम।
Anamika Singh
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
मित्रता दिवस पर विशेष
मित्रता दिवस पर विशेष
बिमल तिवारी “आत्मबोध”
मैं तो सड़क हूँ,...
मैं तो सड़क हूँ,...
मनोज कर्ण
जितना तुझे लिखा गया , पढ़ा गया
जितना तुझे लिखा गया , पढ़ा गया
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
प्यार के सिलसिले
प्यार के सिलसिले
Basant Bhagawan Roy
देखो हाथी राजा आए
देखो हाथी राजा आए
VINOD KUMAR CHAUHAN
किसान भैया
किसान भैया
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
Loading...