Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Mar 2023 · 1 min read

More important than ‘what to do’ is to know ‘what not to do’.

More important than ‘what to do’ is to know ‘what not to do’. The former comes with readings, the latter comes with experience. And higher up you go in your hierarchy, more important it becomes for you to know ‘what not to do’ … Dr Rajiv

Language: English
Tag: Quote Writer
22 Views
You may also like:
एक और महाभारत
एक और महाभारत
Shekhar Chandra Mitra
ख्वाहिशों ठहरो जरा
ख्वाहिशों ठहरो जरा
Satish Srijan
लक्ष्मी बाई [एक अमर कहानी]
लक्ष्मी बाई [एक अमर कहानी]
Dheerendra Panchal
"Har Raha mukmmal kaha Hoti Hai
कवि दीपक बवेजा
नायक
नायक
Saraswati Bajpai
सभी मां बाप को सादर समर्पित 🌹🙏
सभी मां बाप को सादर समर्पित 🌹🙏
सत्य कुमार प्रेमी
*मूॅंगफली स्वादिष्ट (कुंडलिया)*
*मूॅंगफली स्वादिष्ट (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
हाइकु कविता
हाइकु कविता
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
■ व्यंग्य / एक न्यूज़ : जो उड़ा दी फ्यूज..
■ व्यंग्य / एक न्यूज़ : जो उड़ा दी फ्यूज..
*Author प्रणय प्रभात*
Book of the day: मालव (उपन्यास)
Book of the day: मालव (उपन्यास)
Sahityapedia
✍️गहरी साजिशें
✍️गहरी साजिशें
'अशांत' शेखर
थे गुर्जर-प्रतिहार के, सम्राट मिहिर भोज
थे गुर्जर-प्रतिहार के, सम्राट मिहिर भोज
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
**
**
सूर्यकांत द्विवेदी
हक़ीक़त
हक़ीक़त
Shyam Sundar Subramanian
ज़िंदगी कब उदास करती है
ज़िंदगी कब उदास करती है
Dr fauzia Naseem shad
💐💐यह सफ़र कभी ख़त्म नहीं होगा💐💐
💐💐यह सफ़र कभी ख़त्म नहीं होगा💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चाय जैसा तलब हैं मेरा ,
चाय जैसा तलब हैं मेरा ,
Rohit yadav
तुम्हें जब भी मुझे देना हो अपना प्रेम
तुम्हें जब भी मुझे देना हो अपना प्रेम
श्याम सिंह बिष्ट
रिश्ते
रिश्ते
Ashwani Kumar Jaiswal
Sukun usme kaha jisme teri jism ko paya hai
Sukun usme kaha jisme teri jism ko paya hai
Sakshi Tripathi
हैं शामिल
हैं शामिल
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
ख्वाहिशों के समंदर में।
ख्वाहिशों के समंदर में।
Taj Mohammad
दरवाजा
दरवाजा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
151…. सहयात्री (राधेश्यामी छंद)
151…. सहयात्री (राधेश्यामी छंद)
Rambali Mishra
नव संवत्सर
नव संवत्सर
Manu Vashistha
कर रहे शुभकामना...
कर रहे शुभकामना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
"प्यासा"प्यासा ही चला, मिटा न मन का प्यास ।
Vijay kumar Pandey
इश्किया होली
इश्किया होली
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जितना आवश्यक है बस उतना ही
जितना आवश्यक है बस उतना ही
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
मां
मां
Sushil chauhan
Loading...