Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Mar 2023 · 1 min read

Love is beyond all the limits .

Love is beyond all the limits .
It is the reality of puriety soul
And beautiful spirits

1 Like · 145 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to receive all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
You may also like:
में हूँ हिन्दुस्तान
में हूँ हिन्दुस्तान
Irshad Aatif
देश की शान है बेटियां
देश की शान है बेटियां
Ram Krishan Rastogi
रक्तदान
रक्तदान
Neeraj Agarwal
काश
काश
Harshvardhan "आवारा"
उसका-मेरा साथ सुहाना....
उसका-मेरा साथ सुहाना....
डॉ.सीमा अग्रवाल
मन के ढलुवा पथ पर अनगिन
मन के ढलुवा पथ पर अनगिन
Rashmi Sanjay
✍️ये केवल संकलन है,पाठकों के लिये प्रस्तुत
✍️ये केवल संकलन है,पाठकों के लिये प्रस्तुत
'अशांत' शेखर
अनमोल जीवन
अनमोल जीवन
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
"ईद"
Lohit Tamta
सजो संवरो पर,
सजो संवरो पर,
Satish Srijan
होली
होली
Madhavi Srivastava
स्वप्न कुछ
स्वप्न कुछ
surenderpal vaidya
दीवार का साया
दीवार का साया
Dr. Rajeev Jain
Agar padhne wala kabil ho ,
Agar padhne wala kabil ho ,
Sakshi Tripathi
तुम मुझे
तुम मुझे
Dr fauzia Naseem shad
"लक्ष्मण-रेखा"
Dr. Kishan tandon kranti
इन्तेहा हो गयी
इन्तेहा हो गयी
shabina. Naaz
बेवफाई मुझसे करके तुम
बेवफाई मुझसे करके तुम
gurudeenverma198
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
काश वो होते मेरे अंगना में
काश वो होते मेरे अंगना में
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
Unlocking the Potential of the LK99 Superconductor: Investigating its Zero Resistance and Breakthrough Application Advantages
Unlocking the Potential of the LK99 Superconductor: Investigating its Zero Resistance and Breakthrough Application Advantages
Shyam Sundar Subramanian
पक्की छत
पक्की छत
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*रिश्तों को जिंदा रखना है, तो संवाद जरूरी है【मुक्तक 】*
*रिश्तों को जिंदा रखना है, तो संवाद जरूरी है【मुक्तक 】*
Ravi Prakash
*
*"याचना"*
Shashi kala vyas
केवट का भाग्य
केवट का भाग्य
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
" है वही सुरमा इस जग में ।
Shubham Pandey (S P)
तेरी हर अदा निराली है
तेरी हर अदा निराली है
नूरफातिमा खातून नूरी
अगर आप सही हैं, तो आपके साथ सही ही होगा।
अगर आप सही हैं, तो आपके साथ सही ही होगा।
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हर फ़साद की जड़
हर फ़साद की जड़
*Author प्रणय प्रभात*
🌹🌺कैसे कहूँ मैं अकेला हूँ, तुम्हारी याद जो है संग में🌺🌹
🌹🌺कैसे कहूँ मैं अकेला हूँ, तुम्हारी याद जो है संग में🌺🌹
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...