Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Nov 2022 · 1 min read

Karoge kadar khudki tab 🙏

Karoge kadar khudki jab
Rehmat milegi rab ki tab
Milegi rehmat khuda ki jab
Kadar se milogi khud hi tab ,
Kyo bahati ho ashk tum
Jab khud hi nahi ho khud ki tum,
Uthate h ye narm kapol bhar tumhare aansuon ka,fir bhi dusro ke
Liye aansu bahati ho tum ,
Gir jati ho jab thak kar tum
Uthata h tumhara sharir , wapas tumhe tab , bewajah kisi ke peeche bhagti ho tum ,
Har waqt, har pehar sath deta
Hain Yeh deh jo hain sach mein tumhara
Usi ko sukshma samajhti ho tum,
Yuhin uljhan mein waqt vyateet karti ho tum
Khudko samay nahi deti ho tum,
Kadar karogi khudki tum,
Samna karogi khud hi ka tum
Jeet jaogi us din tum ,
Khud hi mein khud ko paa jaogi tum🌹

Nupur pathak
Gurugram

Language: Hindi
9 Likes · 4 Comments · 179 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
🧑‍🎓My life simple life🧑‍⚖️
🧑‍🎓My life simple life🧑‍⚖️
Ms.Ankit Halke jha
तुम्हारे बार बार रुठने पर भी
तुम्हारे बार बार रुठने पर भी
gurudeenverma198
हौसलों की ही जीत होती है
हौसलों की ही जीत होती है
Dr fauzia Naseem shad
सजन के संग होली में, खिलें सब रंग होली में।
सजन के संग होली में, खिलें सब रंग होली में।
डॉ.सीमा अग्रवाल
I am sun
I am sun
Rajan Sharma
तुम बिन आवे ना मोय निंदिया
तुम बिन आवे ना मोय निंदिया
Ram Krishan Rastogi
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस
Shekhar Chandra Mitra
माॅ प्रकृति
माॅ प्रकृति
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
दर्पण जब भी देखती खो जाती हूँ मैं।
दर्पण जब भी देखती खो जाती हूँ मैं।
लक्ष्मी सिंह
चल सतगुर के द्वार
चल सतगुर के द्वार
Satish Srijan
वक्त के साथ सब कुछ बदल जाता है...
वक्त के साथ सब कुछ बदल जाता है...
Ram Babu Mandal
उफ़ ये अदा
उफ़ ये अदा
Surinder blackpen
आपके अन्तर मन की चेतना अक्सर जागृत हो , आपसे , आपके वास्तविक
आपके अन्तर मन की चेतना अक्सर जागृत हो , आपसे , आपके वास्तविक
Seema Verma
कविता
कविता
Shiva Awasthi
कविता: सपना
कविता: सपना
Rajesh Kumar Arjun
We can not judge in our life ,
We can not judge in our life ,
Sakshi Tripathi
■ छोटा शेर बड़ा संदेश...
■ छोटा शेर बड़ा संदेश...
*Author प्रणय प्रभात*
सृष्टि रचेता
सृष्टि रचेता
RAKESH RAKESH
अनकही दोस्ती
अनकही दोस्ती
राजेश बन्छोर
मत बांटो इंसान को
मत बांटो इंसान को
विमला महरिया मौज
दूसरों को समझने से बेहतर है खुद को समझना । फिर दूसरों को समझ
दूसरों को समझने से बेहतर है खुद को समझना । फिर दूसरों को समझ
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
बहुत याद आता है मुझको, मेरा बचपन...
बहुत याद आता है मुझको, मेरा बचपन...
Anand Kumar
रेल यात्रा संस्मरण
रेल यात्रा संस्मरण
Prakash Chandra
Forgive everyone 🙂
Forgive everyone 🙂
Vandana maurya
गीत : ना जीवन जीना छोड़…
गीत : ना जीवन जीना छोड़…
शांतिलाल सोनी
एक दिन में इस कदर इस दुनिया में छा जाऊंगा,
एक दिन में इस कदर इस दुनिया में छा जाऊंगा,
कवि दीपक बवेजा
तुम्हें नमन है अमर शहीदों
तुम्हें नमन है अमर शहीदों
लालबहादुर चौरसिया 'लाल'
"दोस्ती का मतलब" लेखक राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत, गुजरात!
Radhakishan Mundhra
रंग में डूबने से भी नहीं चढ़ा रंग,
रंग में डूबने से भी नहीं चढ़ा रंग,
Buddha Prakash
*मेल मिलाप  (छोटी कहानी)*
*मेल मिलाप (छोटी कहानी)*
Ravi Prakash
Loading...