Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Mar 2023 · 1 min read

Jo kbhi mere aashko me dard bankar

Jo kbhi mere aashko me dard bankar
Chhalakte ho tum,
To bheegti nhi mai , doob jati hu tumhari yado ke bojh tale,
Jisme kbhi mai bhi hua karti thi .

164 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
पैसा पैसा कैसा पैसा
पैसा पैसा कैसा पैसा
विजय कुमार अग्रवाल
प्रेम
प्रेम
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
पश्चाताप
पश्चाताप
DR ARUN KUMAR SHASTRI
💐प्रेम कौतुक-535💐
💐प्रेम कौतुक-535💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वह आँखें 👀
वह आँखें 👀
Skanda Joshi
दर्द
दर्द
Dr. Seema Varma
#आत्मीय_मंगलकामनाएं
#आत्मीय_मंगलकामनाएं
*Author प्रणय प्रभात*
हिन्दी दोहे- इतिहास
हिन्दी दोहे- इतिहास
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
छोड दो उनको उन के हाल पे.......अब
छोड दो उनको उन के हाल पे.......अब
shabina. Naaz
छठ है आया
छठ है आया
Kavita Chouhan
“अवसर” खोजें, पहचाने और लाभ उठायें
“अवसर” खोजें, पहचाने और लाभ उठायें
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
आवारा पंछी / लवकुश यादव
आवारा पंछी / लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
संकुचित हूं स्वयं में
संकुचित हूं स्वयं में
Dr fauzia Naseem shad
मेरी शायरी
मेरी शायरी
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
आत्मसम्मान
आत्मसम्मान
Versha Varshney
नारी मुक्ति का सपना
नारी मुक्ति का सपना
Shekhar Chandra Mitra
तसल्ली मुझे जीने की,
तसल्ली मुझे जीने की,
Vishal babu (vishu)
घर जला दिए किसी की बस्तियां जली
घर जला दिए किसी की बस्तियां जली
कृष्णकांत गुर्जर
फूल से आशिकी का हुनर सीख ले
फूल से आशिकी का हुनर सीख ले
Surinder blackpen
*हृदय कवि का विधाता, श्रेष्ठतम वरदान देता है 【मुक्तक】*
*हृदय कवि का विधाता, श्रेष्ठतम वरदान देता है 【मुक्तक】*
Ravi Prakash
सत्ता परिवर्तन
सत्ता परिवर्तन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
आया पर्व पुनीत....
आया पर्व पुनीत....
डॉ.सीमा अग्रवाल
दिल चेहरा आईना
दिल चेहरा आईना
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
★जब वो रूठ कर हमसे कतराने लगे★
★जब वो रूठ कर हमसे कतराने लगे★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
सूरज की किरणों
सूरज की किरणों
Sidhartha Mishra
उदासीनता
उदासीनता
ओनिका सेतिया 'अनु '
रंगों  की  बरसात की होली
रंगों की बरसात की होली
Vijay kumar Pandey
भुला भुला कर के भी नहीं भूल पाओगे,
भुला भुला कर के भी नहीं भूल पाओगे,
Buddha Prakash
*हिंदी की बिंदी भी रखती है गजब का दम 💪🏻*
*हिंदी की बिंदी भी रखती है गजब का दम 💪🏻*
Radhakishan R. Mundhra
नन्हीं परी आई है
नन्हीं परी आई है
Mukesh Kumar Sonkar
Loading...