Oct 30, 2021 · 1 min read

In the Darkness of Ego

In the darkness of Ego

I am the king, I am the people
I am the god, I am the soul
I am the fire, I am the water
I am the light, I am the darkness
I am the shape, I am the product
I am the ego, I am the sarcasm
I am the yogi, I am the enjoyer
I am devoted..
God dedicated into me
I’m devoted to all
all dedicated to me
Therefore
I ate, everyone ate
I worship, all worship
I’m Me, Me I’m…
I’m Supreme ; Supremacy is Me….

“Ego” in human life
Destroyers ,innerself
and whole life
gets destroyed.

1 Like · 1 Comment · 177 Views
You may also like:
न तुमने कुछ न मैने कुछ कहा है
ananya rai parashar
गुफ़्तगू का ढंग आना चाहिए
अश्क चिरैयाकोटी
💐ये मेरी आशिकी💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पिता का सपना
Prabhudayal Raniwal
ऐसे थे मेरे पिता
Minal Aggarwal
पहाड़ों की रानी
Shailendra Aseem
लाचार बूढ़ा बाप
The jaswant Lakhara
💐💐प्रेम की राह पर-10💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
माँ गंगा
Anamika Singh
बस करो अब मत तड़फाओ ना
Krishan Singh
वेलेंटाइन स्पेशल (5)
N.ksahu0007@writer
मेरे पिता
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
पिता
अवध किशोर 'अवधू'
यादों से दिल बहलाना हुआ
N.ksahu0007@writer
मै हूं एक मिट्टी का घड़ा
Ram Krishan Rastogi
श्रद्धा और सबुरी ....,
Vikas Sharma'Shivaaya'
कहानियां
Alok Saxena
वर्तमान परिवेश और बच्चों का भविष्य
Mahender Singh Hans
"एक नई सुबह आयेगी"
पंकज कुमार "कर्ण"
रुक जा रे पवन रुक जा ।
Buddha Prakash
स्याह रात ने पंख फैलाए, घनघोर अँधेरा काफी है।
Manisha Manjari
* उदासी *
Dr. Alpa H.
नूतन सद्आचार मिल गया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*स्मृति डॉ. उर्मिलेश*
Ravi Prakash
इश्क में तन्हाईयां बहुत है।
Taj Mohammad
"शौर्य"
Lohit Tamta
पिता
Shailendra Aseem
हस्यव्यंग (बुरी नज़र)
N.ksahu0007@writer
दिल मे कौन रहता है..?
N.ksahu0007@writer
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
Loading...