Aug 27, 2021 · 1 min read

In My Dream.

In my dream i saw you everyday
There Great hills and blunt bay
Across them found you to me
SO wide and long the whole way

61 Likes · 1 Comment · 214 Views
You may also like:
स्याह रात ने पंख फैलाए, घनघोर अँधेरा काफी है।
Manisha Manjari
बस एक निवाला अपने हिस्से का खिला कर तो देखो।
Gouri tiwari
सही दिशा में
Ratan Kirtaniya
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
प्रात का निर्मल पहर है
मनोज कर्ण
भाग्य लिपि
ओनिका सेतिया 'अनु '
"महेनत की रोटी"
Dr. Alpa H.
चल अकेला
Vikas Sharma'Shivaaya'
🌺🌺प्रेम की राह पर-41🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
🙏माॅं सिद्धिदात्री🙏
पंकज कुमार "कर्ण"
दिल और गुलाब
Vikas Sharma'Shivaaya'
धरती की फरियाद
Anamika Singh
मारुति वंदन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
मां से बिछड़ने की व्यथा
Dr. Alpa H.
*पापा … मेरे पापा …*
Neelam Chaudhary
बाबा की धूल
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
हायकु मुक्तक-पिता
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
तितली रानी (बाल कविता)
Anamika Singh
तुम और मैं
Ram Krishan Rastogi
होते हैं कई ऐसे प्रसंग
Dr. Alpa H.
//स्वागत है:२०२२//
Prabhudayal Raniwal
उसके मेरे दरमियाँ खाई ना थी
Khalid Nadeem Budauni
काश बचपन लौट आता
Anamika Singh
गढ़वाली चित्रकार मौलाराम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पिता कुछ भी कर जाता है।
Taj Mohammad
भगवान हमारे पापा हैं
Lucky Rajesh
किताब।
Amber Srivastava
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग३]
Anamika Singh
💐प्रेम की राह पर-29💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मेरे हाथो में सदा... तेरा हाथ हो..
Dr. Alpa H.
Loading...