Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Apr 2023 · 1 min read

Hum mom ki kathputali to na the.

Hum mom ki kathputali to na the.
Tumhari aadao par hum pighal gaye.
Hmari ahmak ana tahrik to dekhiye,
Apke the, apke hi ban kar rah gaye.

215 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
You may also like:
रक्षा बन्धन पर्व ये,
रक्षा बन्धन पर्व ये,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
क्या है नारी?
क्या है नारी?
Manu Vashistha
पिता
पिता
Aruna Dogra Sharma
जिन्दगी की रफ़्तार
जिन्दगी की रफ़्तार
मनोज कर्ण
*योग-दिवस (बाल कविता)*
*योग-दिवस (बाल कविता)*
Ravi Prakash
सुनो ना
सुनो ना
shabina. Naaz
शराब खान में
शराब खान में
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
मत करना
मत करना
dks.lhp
चुनिंदा बाल कहानियाँ (पुस्तक, बाल कहानी संग्रह)
चुनिंदा बाल कहानियाँ (पुस्तक, बाल कहानी संग्रह)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
चलो दो हाथ एक कर ले
चलो दो हाथ एक कर ले
Sûrëkhâ Rãthí
पैसे का विस्तार
पैसे का विस्तार
Buddha Prakash
देश भक्ति का ढोंग
देश भक्ति का ढोंग
बिमल तिवारी “आत्मबोध”
चांद पर भारत । शीर्ष शिखर पर वैज्ञानिक, गौरवान्वित हर सीना ।
चांद पर भारत । शीर्ष शिखर पर वैज्ञानिक, गौरवान्वित हर सीना ।
Roshani jaiswal
आहुति
आहुति
Khumar Dehlvi
हर ख्वाहिश।
हर ख्वाहिश।
Taj Mohammad
पिता
पिता
Dr Manju Saini
मन ही बंधन - मन ही मोक्ष
मन ही बंधन - मन ही मोक्ष
Rj Anand Prajapati
भगोरिया पर्व नहीं भौंगर्या हाट है, आदिवासी भाषा का मूल शब्द भौंगर्यु है जिसे बहुवचन में भौंगर्या कहते हैं। ✍️ राकेश देवडे़ बिरसावादी
भगोरिया पर्व नहीं भौंगर्या हाट है, आदिवासी भाषा का मूल शब्द भौंगर्यु है जिसे बहुवचन में भौंगर्या कहते हैं। ✍️ राकेश देवडे़ बिरसावादी
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
#हँसी
#हँसी
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
फितरते फतह
फितरते फतह
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
'स्मृतियों की ओट से'
'स्मृतियों की ओट से'
Rashmi Sanjay
तुम और मैं
तुम और मैं
Ram Krishan Rastogi
कृष्णा को कृष्णा ही जाने
कृष्णा को कृष्णा ही जाने
Satish Srijan
मोबाइल सन्देश (दोहा)
मोबाइल सन्देश (दोहा)
N.ksahu0007@writer
पुरानी यादें
पुरानी यादें
Palak Shreya
सुनो ! हे राम ! मैं तुम्हारा परित्याग करती हूँ ...
सुनो ! हे राम ! मैं तुम्हारा परित्याग करती हूँ ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
सफ़र में रहता हूं
सफ़र में रहता हूं
Shivkumar Bilagrami
पुलवामा हमले पर शहीदों को नमन चार पंक्तियां
पुलवामा हमले पर शहीदों को नमन चार पंक्तियां
कवि दीपक बवेजा
नसीहत
नसीहत
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
कुशादा
कुशादा
Mamta Rani
Loading...