Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Mar 2023 · 1 min read

Have faith in your doubt

In the name of superstition, faith we are often mislead. We believe black cats and number thirteen to be unlucky. But why? If educated persons like us will not questions these blind faith, superstitions , then who will?After all, if you nurture any doubt against the blind faith prevailing in Society, you must persist with it. Other wise in the name of blind faith, superstitions, religion, people will be getting fooled forever.

Have Faith in your doubt

They warn us of black cats ,
and broken glass,
And that number thirteen ,
brings fear in mass.

By tales of black magic and ,
tales of the dead,
In the name of tradition ,
we are often mislead.

Why to swallow these lies,
hook, line, and plot?
Why not to question if ,
these are true or not?

That how can a dead ,
speak through a mouth?
If suspicious arises ,
have faith in your doubt.

Ajay Amitabh Suman
All Rights Reserved

Language: English
137 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
Books from AJAY AMITABH SUMAN
View all
You may also like:
'याद पापा आ गये मन ढाॅंपते से'
'याद पापा आ गये मन ढाॅंपते से'
Rashmi Sanjay
"कलयुग का मानस"
Dr Meenu Poonia
नव वर्ष शुभ हो (कुंडलिया)
नव वर्ष शुभ हो (कुंडलिया)
Ravi Prakash
****शिक्षक****
****शिक्षक****
Kavita Chouhan
#लघुकथा
#लघुकथा
*Author प्रणय प्रभात*
दिलों को तोड़ जाए वह कभी आवाज मत होना। जिसे कोई ना समझे तुम कभी वो राज मत होना। तुम्हारे दिल में जो आए ज़ुबां से उसको कह देना। कभी तुम मन ही मन मुझसे सनम नाराज मत होना।
दिलों को तोड़ जाए वह कभी आवाज मत होना। जिसे कोई ना समझे तुम कभी वो राज मत होना। तुम्हारे दिल में जो आए ज़ुबां से उसको कह देना। कभी तुम मन ही मन मुझसे सनम नाराज मत होना।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
रात के बाद सुबह का इंतजार रहता हैं।
रात के बाद सुबह का इंतजार रहता हैं।
Neeraj Agarwal
अपने आसपास
अपने आसपास "काम करने" वालों की कद्र करना सीखें...
Radhakishan R. Mundhra
*🔱नित्य हूँ निरन्तर हूँ...*
*🔱नित्य हूँ निरन्तर हूँ...*
Dr Manju Saini
आपका बुरा वक्त
आपका बुरा वक्त
Paras Nath Jha
दार्जलिंग का एक गाँव सुकना
दार्जलिंग का एक गाँव सुकना
Satish Srijan
💐प्रेम कौतुक-260💐
💐प्रेम कौतुक-260💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
'चाँद गगन में'
'चाँद गगन में'
Godambari Negi
जहां पर जन्म पाया है वो मां के गोद जैसा है।
जहां पर जन्म पाया है वो मां के गोद जैसा है।
सत्य कुमार प्रेमी
जुबान काट दी जाएगी - डी के निवातिया
जुबान काट दी जाएगी - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
बात
बात
Shyam Sundar Subramanian
Tumhara Saath chaiye ? Zindagi Bhar
Tumhara Saath chaiye ? Zindagi Bhar
Chaurasia Kundan
सीमवा पे डटल हवे, हमरे भैय्या फ़ौजी
सीमवा पे डटल हवे, हमरे भैय्या फ़ौजी
Er.Navaneet R Shandily
✍️शराब का पागलपन✍️
✍️शराब का पागलपन✍️
'अशांत' शेखर
बिजलियों का दौर
बिजलियों का दौर
अरशद रसूल /Arshad Rasool
दिन में तुम्हें समय नहीं मिलता,
दिन में तुम्हें समय नहीं मिलता,
Dr. Man Mohan Krishna
मजदूर की जिंदगी
मजदूर की जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
*तुम साँझ ढले चले आना*
*तुम साँझ ढले चले आना*
Shashi kala vyas
-- दिव्यांग --
-- दिव्यांग --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
पहले तेरे हाथों पर
पहले तेरे हाथों पर
The_dk_poetry
सोच का अपना दायरा देखो
सोच का अपना दायरा देखो
Dr fauzia Naseem shad
मेघ
मेघ
Rakesh Rastogi
🚩अमर काव्य हर हृदय को, दे सद्ज्ञान-प्रकाश
🚩अमर काव्य हर हृदय को, दे सद्ज्ञान-प्रकाश
Pt. Brajesh Kumar Nayak
" आशा की एक किरण "
DrLakshman Jha Parimal
तेरा-मेरा साथ, जीवन भर का...
तेरा-मेरा साथ, जीवन भर का...
Sunil Suman
Loading...