Jun 1, 2021 · 1 min read

DEAR

Dear is SO
COMMONLY USED
BUT AGAINST TO CULTURE
AS THIS BRINGS SOMEONE
NEAR AND NEAR
DEAR IS FOR CLOSEST
VERY CLOSET
WHERE NO WALL OF DISLIKE OR HATE

THIS WORD IS
SOMETHING SPECIAL
FOR ME AS
TOUCHED TO MY
INNER CORE

AND FEELING VERY
TOUCH OF VERY
AND CLOSENESS TOO MUCH FEELINGS OF
BEING CLOSE TO CLOSR

AND GIVES PLEASURE
AS COOLENESS IN WATMTH HOT
AND RELIEF IN PAIN
AND HAPPINESS IN SORROW

64 Likes · 2 Comments · 253 Views
You may also like:
नई तकदीर
मनोज कर्ण
आप कौन है
Sandeep Albela
*!* दिल तो बच्चा है जी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
ये माला के जंगल
Rita Singh
पिता क्या है?
Varsha Chaurasiya
कविराज
Buddha Prakash
अक्षय तृतीया
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
All I want to say is good bye...
Abhineet Mittal
🌷🍀प्रेम की राह पर-49🍀🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अपने पापा की मैं हूं।
Taj Mohammad
भारत के इतिहास में मुरादाबाद का स्थान
Ravi Prakash
हर रोज योग करो
Krishan Singh
"साहित्यकार भी गुमनाम होता है"
Ajit Kumar "Karn"
कुंडलियां छंद (7)आया मौसम
Pakhi Jain
'मेरी यादों में अब तक वे लम्हे बसे'
Rashmi Sanjay
【30】*!* गैया मैया कृष्ण कन्हैया *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
सच
अंजनीत निज्जर
इन नजरों के वार से बचना है।
Taj Mohammad
बॉर्डर पर किसान
Shriyansh Gupta
नूर
Alok Saxena
मां तो मां होती है ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
*तिरछी नजर *
Dr. Alpa H.
तुझे अपने दिल में बसाना चाहती हूं
Ram Krishan Rastogi
ज़िंदगी।
Taj Mohammad
ज़िंदगी मयस्सर ना हुई खुश रहने की।
Taj Mohammad
!¡! बेखबर इंसान !¡!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
【10】 ** खिलौने बच्चों का संसार **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
'याद पापा आ गये मन ढाॅंपते से'
Rashmi Sanjay
हिंसा की आग 🔥
मनोज कर्ण
Loading...