· Reading time: 1 minute

सामाजिक न्याय के लड़ाई

धीरे धीरे बहुजन जाग रहल बा
ये देश के लानत भाग रहल बा!
बेख़ौफ़ होके सरकार से आपन
ऊ बुनियादी हक़ मांग रहल बा!!
अब मंदिर-मस्जिद के नाम पर
ओके बहकावल बहुत मुश्किल!
धर्म-संस्कृति भूल गईल बाकिर
सामाजिक न्याय याद रहल बा!!
Shekhar Chandra Mitra
#राजनीतिककविता #सियासीशायरी
#चुनावीकविता #बहुजनशायर

3 Views
Like
Author
182 Posts · 8.7k Views
Lyricist, Journalist, Social Activist

Enjoy all the features of Sahityapedia on the latest Android app.

Install App
You may also like:
Loading...