· Reading time: 1 minute

सगरी तिउहार

डेग डेग पर पसरल बाटे केतना संस्कार
हमरे देसवा में दुनिया के सगरी तिउहार

नागपचैया पर सांपन के दूध पियावल जाला
रक्षाबन्धन में भइया के राखी बान्हल जाला

राम,कृष्ण,गौतम बनि के इसवर लेलें अवतार
हमरे देसवा में दुनिया के सगरी तिउहार

ईदि कबो नवरात दसहरा से मिलि के बतियावे
कबो मोहर्रम अउर दियारी-बाती संघवें आवे

सुरुजदेव आ छठि मइया के किरपा झारे झार
हमरे देसवा में दुनिया के सगरी तिउहार

क्रिसमस में सन्ता कलाज के राहि अगोरीं हमहूँ
होरी के हुरदंग में केहू माख करे ना कबहूँ

खिचड़ी,बइसाखी,सतुआ के आपन अलग बहार
हमरे देसवा में दुनिया के सगरी तिउहार

जैन,पारसी,बौध,यहूदी जेतना धरम सुनाला
सबके तिउहारन के मिलि जुलि खूब मनावल जाला

बनल रहे अइसे ‘असीम’ ई आपन घर-संसार
हमरे देसवा में दुनिया के सगरी तिउहार

— शैलेन्द्र ‘असीम’

15 Views
Like
Author
11 Posts · 371 Views
शैलेन्द्र कुमार पाण्डेय उपाख्य : 'असीम' माता : स्व. द्रौपदी पाण्डेय पिता : स्व. सूर्यभान पाण्डेय पत्नी : श्रीमती प्रिया पाण्डेय पुत्रियां : श्रेया नव्या तन्वी शिक्षा : एम.एस-सी., बी.एड.,…

Enjoy all the features of Sahityapedia on the latest Android app.

Install App
You may also like:
Loading...