· Reading time: 1 minute

माई के बोली लोगवन भूलाई गइले

माई के बोली लोगवन भूलाई गइले
जैसन मोन वइसने गीत गाबे लगले?

तनिको नाहि होखनी के लागिले लाज
अशलीलता से भोजपूरी के घिनावे लगले?

भीखारी ठाकुर आ महिंदिर मिसिर
भोजपूरी के जियाअ के रखलें

बांकी तोहनी के फूहरबाज सब
भोजपूरी के घिना के रख दिहले?

कहता आब किशन बबूआ हाथ जोड़
काहें तोहनी सब मिल भोजपूरी के मुआ दिहले?

कवि-किशन कारीगर
(©किशन कारीगर)

1 Like · 286 Views
Like
Author
5 Posts · 663 Views
कवि परिचय:- किशन कारीगर ( मूल नाम- डाॅ. कृष्ण कुमार राय). जन्म:- 5 मार्च 1983ई.(कलकता मे)। शिक्षाः- पीएच.डी(शिक्षाशात्र), एमएमसी(मास कम्युनिकेशन),एम्.एड,बी.एड, पि.जी.डिप्लोमा(रेडियो प्रसारण) । मैथिली/हिंदी/ बांग्ला मे किशन कारीगर उपनाम से…

Enjoy all the features of Sahityapedia on the latest Android app.

Install App
You may also like:
Loading...