· Reading time: 1 minute

छठ के ई त्योहार (कुण्डलिया छंद)

माई के ममता हवे, छठ के ई त्योहार।
लइकन खातिर ही सहें, माई कष्ट हजार।
माई कष्ट हजार, प्यार आ ममता देली।
ना राखेली भेद, हमेशा समता देली।
खुद के बा उपवास, बंस के देस मिठाई।
ईश्वर के ले रूप, धरा पर आवस माई।।

– आकाश महेशपुरी
दिनांक- 09/11/2021

4 Likes · 154 Views
Like
Author
संक्षिप्त परिचय : नाम- आकाश महेशपुरी (कवि, लेखक) मो. न. 9919080399 मूल नाम- वकील कुशवाहा जन्मतिथि- 15 अगस्त 1980 शैक्षिक योग्यता- स्नातक ॰॰॰ प्रकाशन- सब रोटी का खेल (काव्य संग्रह)…

Enjoy all the features of Sahityapedia on the latest Android app.

Install App
You may also like:
Loading...