· Reading time: 1 minute

आइल बा नवका साल

मनई मनई झूमि रहल बा, खूब मिलल बा ताल
आइल बा नवका साल, आइल बा नवका साल

सबकर दुख दलिद्दर लेके साल पुरनका भागे
मन में कवनो माख रहे ना, अइसन नेहिया लागे
नया नया हित मीत मिलें, जिनिगी हो जा खुसहाल
आइल बा नवका साल, आइल बा नवका साल

भोजपुरिया माटी महके तब बासमती उपजेला
कोल्हुआड़े में भेली के साथे मिठास पाकेला
बनल रहे यू पी, बिहार के दुनिया में भौकाल
आइल बा नवका साल, आइल बा नवका साल

नया साल में मन के सगरी साध पुरावें भोला
हँसी खुसी के गीत गवनई पसरे टोली टोला
सबका खातिर हाथ पसरलें आजु ‘असीम’ निहाल
आइल बा नवका साल, आइल बा नवका साल

© शैलेन्द्र ‘असीम’

16 Views
Like
Author
12 Posts · 574 Views
शैलेन्द्र कुमार पाण्डेय उपाख्य : 'असीम' माता : स्व. द्रौपदी पाण्डेय पिता : स्व. सूर्यभान पाण्डेय पत्नी : श्रीमती प्रिया पाण्डेय पुत्रियां : श्रेया नव्या तन्वी शिक्षा : एम.एस-सी., बी.एड.,…

Enjoy all the features of Sahityapedia on the latest Android app.

Install App
You may also like:
Loading...