Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Aug 2016 · 1 min read

_इलाहाबाद

इलाहाबाद की मिट्टी की खुशबू कुछ खास है
क्यूंकि यहॉ गंगा जमुना सरस्वती का वास है
लेटे हनुमान जी की महिमा अपार है
तभीतो गंगा जी उनके चरण छूने को बेकरार है
सब तरफ फैली एक खूबसूरत मिठास है
क्यूकि सबके दिलों मे प्यार की सौगात है
खाने की चीजों की लाजवाब बयार है
क्युकि हर तरफ जायकेदार बाजार
नेतराम की कचौरी हो या निराला की चाट हो
भगवानदास की मिठाई हो या कोई भी हलवाई हो
सबका अपना एक अलग अंदाज
सिविल लाइंस का चुरमुरा भी लाइन लग कर बिकता है
उसका चटखारा भी दूर दूर तक दिखता है
काफी हाउस मे राजनीतिक सरगर्मी है
तो एलचिको मे अजब गहमा गहमी है
चौक बाजार हे या तो खुल्दाबाद हो
क्या कहे यही तो इलाहाबाद है
जो सचमुच खासम खास है

Language: Hindi
Tag: कविता
313 Views
You may also like:
अगर ज़रा भी हो इश्क मुझसे, मुझे नज़र से दिखा...
सत्य कुमार प्रेमी
सुनो
shabina. Naaz
हिन्दी भाषा
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
विद्या राजपूत से डॉ. फ़ीरोज़ अहमद की बातचीत
डॉ. एम. फ़ीरोज़ ख़ान
【25】 *!* विकृत विचार *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
मूर्दों की बस्ती
Shekhar Chandra Mitra
दिल हमारा।
Taj Mohammad
He is " Lord " of every things
Ram Ishwar Bharati
इतने मधुर बनो जीवन में।
लक्ष्मी सिंह
बस तू चाहिए
Harshvardhan "आवारा"
दर्द आवाज़ ही नहीं देता
Dr fauzia Naseem shad
एक शक्की पत्नि
Ram Krishan Rastogi
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मजदूर -भाग -एक
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
योगा
Utsav Kumar Aarya
नोटबंदी 2016 के दौर में लिखी गई एक रचना
Ravi Prakash
जिंदगी का एकाकीपन
मनोज कर्ण
मर्यादा का चीर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
भाईजान की बात
AJAY PRASAD
बांस का चावल
सिद्धार्थ गोरखपुरी
✍️माँ की गोद -पिता की याद✍️
'अशांत' शेखर
परम प्रकाश उत्सव कार्तिक मास
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तुझे क्या कहूँ
Pakhi Jain
बेटी
Kanchan sarda Malu
अजब-गजब इन्सान...
डॉ.सीमा अग्रवाल
Writing Challenge- सम्मान (Respect)
Sahityapedia
अग्नि पथ के अग्निवीर
Anamika Singh
"पिता का जीवन"
पंकज कुमार कर्ण
जगाओ हिम्मत और विश्वास तुम
gurudeenverma198
*संविधान गीत*
कवि लोकेन्द्र ज़हर
Loading...