Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 21, 2019 · 1 min read

863 आया होली का त्यौहार है

आया होली का त्यौहार है।
लाया रंगों की बौछार है।
खूब उछाले रंग है़ंं।
रंगीन हुआ घर द्वार है।
होली का त्योहार है।

आओ मिटा दें भेदभाव।
एक ही रंग में रंग जाएं।
भेदभाव के रंग में मिटाके।
छाए चारों और बहार रे।
आया होली का त्योहार है।

ना हो कोई दिल का काला।
ना हो किसी का खून सफेद।
रंग बिरंगे दिल खिले हों।
छा जाए चारों ओर प्यार रे।
आया होली का त्योहार है।

1 Like · 1 Comment · 165 Views
You may also like:
चेतना के उच्च तरंग लहराओं रे सॉवरियाँ
Dr.sima
" एक हद के बाद"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
ब्रेकिंग न्यूज़
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कोई मंझधार में पड़ा हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
अल्फाजों के घाव।
Taj Mohammad
✍️सिर्फ दो पल...दो बातें✍️
"अशांत" शेखर
✍️मौसम सर्द हुआ है✍️
"अशांत" शेखर
【31】{~} बच्चों का वरदान निंदिया {~}
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
हे कृष्णा पृथ्वी पर फिर से आओ ना।
Taj Mohammad
तरबूज का हाल
श्री रमण 'श्रीपद्'
"दोस्त-दोस्ती और पल"
Lohit Tamta
में और मेरी बुढ़िया
Ram Krishan Rastogi
नशा कऽ क नहि गबावं अपन जान यौ
VY Entertainment
अभी दुआ में हूं बद्दुआ ना दो।
Taj Mohammad
तो पिता भी आसमान है।
Taj Mohammad
मां
Anjana Jain
बुद्ध या बुद्धू
Priya Maithil
ठिकरा विपक्ष पर फोडा जायेगा
Mahender Singh Hans
नर्मदा के घाट पर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
" आपके दिल का अचार बनाना है ? "
DrLakshman Jha Parimal
अल्फाज़ ए ताज भाग-1
Taj Mohammad
दिनेश कार्तिक
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
मेरे पापा
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️ये भी इश्क़ है✍️
"अशांत" शेखर
वक्त रहते मिलता हैं अपने हक्क का....
Dr.Alpa Amin
उपदेश
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
खुद से बच कर
Dr fauzia Naseem shad
“हिमांचल दर्शन “
DrLakshman Jha Parimal
संकरण हो गया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मित्रों की दुआओं से...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Loading...