Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Mar 2023 · 1 min read

2225.

2225.
🌷हाथ मिला लो साथ निभा लो 🌷
22 22 22 22
हाथ मिला लो साथ निभा लो ।
बाजी अपना नाम लिखा लो ।।
ये जीवन भी सुंदर जीवन ।
दुनिया में सब काम करा लो ।।
बनके आता जाता सूरज ।
सारे खुद अंधकार मिटा लो ।।
क्या लेकर जाना है जग से ।
रोज सुहानी शाम बिता लो ।।
मन ही आज मसीहा खेदू ।
महके सत्य का धाम सजा लो ।।
………..✍प्रो .खेदू भारती “सत्येश”
01-03-2023बुधवार

38 Views
You may also like:
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
*विभीषण हो भले कोई, उसे इज्जत नहीं मिलती (मुक्तक)*
*विभीषण हो भले कोई, उसे इज्जत नहीं मिलती (मुक्तक)*
Ravi Prakash
💐प्रेम कौतुक-295💐
💐प्रेम कौतुक-295💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आपकी याद
आपकी याद
Dr fauzia Naseem shad
■ मुक्तक।
■ मुक्तक।
*Author प्रणय प्रभात*
Daily Writing Challenge: त्याग
Daily Writing Challenge: त्याग
'अशांत' शेखर
स्याह रात मैं उनके खयालों की रोशनी है
स्याह रात मैं उनके खयालों की रोशनी है
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
प्यार करो
प्यार करो
Shekhar Chandra Mitra
हायकू
हायकू
Ajay Chakwate *अजेय*
#गणतंत्र दिवस#
#गणतंत्र दिवस#
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
सपनों की दुनिया
सपनों की दुनिया
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अशोक महान
अशोक महान
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कविता ही हो /
कविता ही हो /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
तब याद तुम्हारी आती है (गीत)
तब याद तुम्हारी आती है (गीत)
संतोष तनहा
Feel it and see that
Feel it and see that
Taj Mohammad
अंध विश्वास एक ऐसा धुआं है जो बिना किसी आग के प्रकट होता है।
अंध विश्वास एक ऐसा धुआं है जो बिना किसी आग...
Rj Anand Prajapati
कोई हिन्दू हो या मूसलमां,
कोई हिन्दू हो या मूसलमां,
Satish Srijan
खिल जाए अगर कोई फूल चमन मे
खिल जाए अगर कोई फूल चमन मे
shabina. Naaz
तुझे बताने
तुझे बताने
Sidhant Sharma
खाना खाया या नहीं ये सवाल नहीं पूछता,
खाना खाया या नहीं ये सवाल नहीं पूछता,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
एक अबोध बालक
एक अबोध बालक
DR ARUN KUMAR SHASTRI
𝖎 𝖑𝖔𝖛𝖊 𝖚✍️
𝖎 𝖑𝖔𝖛𝖊 𝖚✍️
bhandari lokesh
गुमनाम ही रहने दो
गुमनाम ही रहने दो
VINOD KUMAR CHAUHAN
Pal bhar ki khahish ko jid bna kar , apne shan ki lash uthai
Pal bhar ki khahish ko jid bna kar , apne...
Sakshi Tripathi
रूठ जाने लगे हैं
रूठ जाने लगे हैं
Gouri tiwari
अन्न देवता
अन्न देवता
Dr. Girish Chandra Agarwal
अनेकतामा एकता
अनेकतामा एकता
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
कोटेशन ऑफ डॉ. सीमा
कोटेशन ऑफ डॉ. सीमा
Dr.sima
मैं पीड़ाओं की भाषा हूं
मैं पीड़ाओं की भाषा हूं
Shiva Awasthi
"माटी से मित्रता"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...