Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
May 19, 2016 · 1 min read

मैं नीर भरी दुख की बदली महादेवी की पीड़ा लिख दूँ

? प्रिय मित्रों ?
मैं अपने काव्य लेखन के माध्यम से सदैव यही कोशिश करता हूँ ,,,,
???????????????????

वर दे वीणापाणि वर दे लिख दूँ वंदना निराला की ।

अमन प्रेम की बाते लिख दूँ मैं बच्चन के मधुशाला की ।

मैं नीर भरी दुःख की बदली महादेवी की पीड़ा लिख दूँ,

भूषण का शिवाशौर्य लिखकर वीरों मे पैदा ज्वाला की ।

???????????????????
? वीर पटेल ?

1 Comment · 729 Views
You may also like:
आसान नहीं होता है पिता बन पाना
Poetry By Satendra
अधूरी बातें
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
उनकी यादें
Ram Krishan Rastogi
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग१]
Anamika Singh
मेरी अभिलाषा
Anamika Singh
बँटवारे का दर्द
मनोज कर्ण
समय का सदुपयोग
Anamika Singh
"विहग"
Ajit Kumar "Karn"
पापा आपकी बहुत याद आती है !
Kuldeep mishra (KD)
नदी की अभिलाषा / (गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
ये शिक्षामित्र है भाई कि इसमें जान थोड़ी है
आकाश महेशपुरी
'बाबूजी' एक पिता
पंकज कुमार कर्ण
पापा जी
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
आजादी अभी नहीं पूरी / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
मै पैसा हूं दोस्तो मेरे रूप बने है अनेक
Ram Krishan Rastogi
प्यार
Anamika Singh
हर एक रिश्ता निभाता पिता है –गीतिका
रकमिश सुल्तानपुरी
छोड़ दी हमने वह आदते
Gouri tiwari
और जीना चाहता हूं मैं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
✍️दूरियाँ वो भी सहता है ✍️
Vaishnavi Gupta
श्रीमती का उलाहना
श्री रमण 'श्रीपद्'
गुरुजी!
Vishnu Prasad 'panchotiya'
A wise man 'The Ambedkar'
Buddha Prakash
पिता
Dr. Kishan Karigar
कोई हमदर्द हो गरीबी का
Dr fauzia Naseem shad
बुन रही सपने रसीले / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
उफ ! ये गर्मी, हाय ! गर्मी / (गर्मी का...
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हम तुमसे जब मिल नहीं पाते
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ऐ मां वो गुज़रा जमाना याद आता है।
Abhishek Pandey Abhi
Loading...