Nov 30, 2021 · 1 min read

बस्तीक लोकक विरुद्ध

बस्तीक लोकक विरुद्ध
###############################
लोक बुझैत अछि बस्तीक
बस्तीक भाषा
कुकुरक भों भों करबाक अर्थ
सांझ प्रात हूल हूल करबाक पाछा
की थिकैक लालसा/मंशा

ओ जानैत अछि
निजगूत ओकर अयबाक समय
कान पटपटेबाक आकि
नांगरि डोलेबाक कारण
कतेको केँ हबकलकैक एखन धरि
कोना-कोना फंसौलकैक बुझल छैक इतिहास

कुकुरके चिन्हबाक होअए…
बेजाए नै छैक देब काओरा
ओकर भाषा सीखबाक लेल
परिकाबहो पड़ैत छैक कखनोकाल

खराब त’ तखन होइत छैक…
सीखैत सीखैत ओकर भाषा बिसरि जाइत छी स्वयंके
लागल-लागल परकि जाइत छी
एनमेन ओकरे सन
बात-बात पर लगैत छी जीह नमराब’ आ
डोलब’लगैत छी नांगरि कुकुरक आउग-पाउछ

बुड़िबक थोड़े ने छलाह पूर्वज लोकनि
जे कहि गेलाह…
खंजनिक चालि चलबाक फिराक मे
अपनहुँ चालि जूनि जाइ बिसरि

खराब तखन होइत छैक…
बिसरि सभ बात-विचार
एकदिन भ जाइत छी
अहुं बस्तीयेक लोकक विरुद्ध ।।
#############################
अवधेश।।

2 Likes · 2 Comments · 125 Views
You may also like:
ये दिल धड़कता नही अब तुम्हारे बिना
Ram Krishan Rastogi
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
श्री रमण
त्रिशरण गीत
Buddha Prakash
फूलो की कहानी,मेरी जुबानी
Anamika Singh
🌻🌻🌸"इतना क्यों बहका रहे हो,अपने अन्दाज पर"🌻🌻🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चिट्ठी का जमाना और अध्यापक
Mahender Singh Hans
तुम और मैं
Ram Krishan Rastogi
हिंसा की आग 🔥
मनोज कर्ण
'बेदर्दी'
Godambari Negi
"ज़ुबान हिल न पाई"
अमित मिश्र
हम एक है
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
कवनो गाड़ी तरे ई चले जिंदगी
आकाश महेशपुरी
शब्द नही है पिता जी की व्याख्या करने को।
Taj Mohammad
सलाम
Shriyansh Gupta
एहसासों के समंदर में।
Taj Mohammad
पितृ वंदना
मनोज कर्ण
आपके जाने के बाद
pradeep nagarwal
चांदनी में बैठते हैं।
Taj Mohammad
सोना
Vikas Sharma'Shivaaya'
यही तो मेरा वहम है
Krishan Singh
* अदृश्य ऊर्जा *
Dr. Alpa H.
वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पर दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पिता जी
Rakesh Pathak Kathara
*कलम शतक* :कवि कल्याण कुमार जैन शशि
Ravi Prakash
ये ख्वाब न होते तो क्या होता?
सिद्धार्थ गोरखपुरी
दुखो की नैया
AMRESH KUMAR VERMA
आखिर तुम खुश क्यों हो
Krishan Singh
पिता के जैसा......नहीं देखा मैंने दुजा
Dr. Alpa H.
*!* कच्ची बुनियाद *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
हमको आजमानें की।
Taj Mohammad
Loading...