Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Settings

दो टूक सवाल

ना सुट का
ना बुट का
सवाल है
दो टूक का…
वे लोग क्या
ज़वाब
दे सकेंगे
किसी कोयल की
कूक का…
कैमरा और
क़लम पर
कब तक
पहरा रहेगा
बंदुक का…
क्या कोई
ओर-छोर भी है
देश के
नेताओं की
झूठ का…
Shekhar Chandra Mitra
#freedomofspeech

1 Like · 235 Views
You may also like:
भोर का नवगीत / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
परिवाद झगड़े
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मर्द को भी दर्द होता है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता का पता
श्री रमण 'श्रीपद्'
माँ — फ़ातिमा एक अनाथ बच्ची
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
इंसानियत का एहसास भी
Dr fauzia Naseem shad
बुआ आई
राजेश 'ललित'
"कुछ तुम बदलो कुछ हम बदलें"
Ajit Kumar "Karn"
फहराये तिरंगा ।
Buddha Prakash
Green Trees
Buddha Prakash
माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
नदी की पपड़ी उखड़ी / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पितृ महिमा
मनोज कर्ण
Nurse An Angel
Buddha Prakash
'फूल और व्यक्ति'
Vishnu Prasad 'panchotiya'
जाने कैसा दिन लेकर यह आया है परिवर्तन
आकाश महेशपुरी
'दुष्टों का नाश करें' (ओज - रस)
Vishnu Prasad 'panchotiya'
"निर्झर"
Ajit Kumar "Karn"
पीला पड़ा लाल तरबूज़ / (गर्मी का गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जिन्दगी का सफर
Anamika Singh
काश....! तू मौन ही रहता....
Dr. Pratibha Mahi
मुँह इंदियारे जागे दद्दा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कुछ नहीं इंसान को
Dr fauzia Naseem shad
मेरे पापा
Anamika Singh
झरने और कवि का वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
✍️आज के युवा ✍️
Vaishnavi Gupta
कूड़े के ढेर में भी
Dr fauzia Naseem shad
पिता
Shailendra Aseem
आपसा हम जो दिल
Dr fauzia Naseem shad
हमनें ख़्वाबों को देखना छोड़ा
Dr fauzia Naseem shad
Loading...