Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Settings

जात बा कि जाते नइखे

हाय जतिया रे
काहे ना
देसवा से जाले
विषमतिया रे
काहे ना
देसवा से जाले…
(१)
केतना रोहित
केतना पायल
काचहीं
तें तअ चबाले
रक्षसिनिया रे
काहे ना
देसवा से जाले…
(२)
ना कवनो मोह
ना तनको माया
केहू पर
तें देखावेले
सवतिया रे
काहे ना
देसवा से जाले…
(३)
तोरे चलते
बेर-बेर भईल
भारत
दुस्मन के हवाले
विपतिया रे
काहे ना
देसवा से जाले…
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#जनवादीकविता #अवामीशायरी
#इंकलाबीशायरी #भोजपुरीसिनेमा

105 Views
You may also like:
आंसूओं की नमी का क्या करते
Dr fauzia Naseem shad
औरों को देखने की ज़रूरत
Dr fauzia Naseem shad
बस एक निवाला अपने हिस्से का खिला कर तो देखो।
Gouri tiwari
मेरा गुरूर है पिता
VINOD KUMAR CHAUHAN
✍️वो इंसा ही क्या ✍️
Vaishnavi Gupta
पिता
Aruna Dogra Sharma
मिठाई मेहमानों को मुबारक।
Buddha Prakash
बे'बसी हमको चुप करा बैठी
Dr fauzia Naseem shad
संत की महिमा
Buddha Prakash
मृगतृष्णा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता का दर्द
Nitu Sah
दिल ज़रूरी है
Dr fauzia Naseem shad
पीला पड़ा लाल तरबूज़ / (गर्मी का गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
The Buddha And His Path
Buddha Prakash
हे पिता,करूँ मैं तेरा वंदन
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
इज़हार-ए-इश्क 2
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
तपों की बारिश (समसामयिक नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मेरी उम्मीद
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
दीवार में दरार
VINOD KUMAR CHAUHAN
दिल का यह
Dr fauzia Naseem shad
समय को भी तलाश है ।
Abhishek Pandey Abhi
इश्क करते रहिए
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
संघर्ष
Sushil chauhan
छलकता है जिसका दर्द
Dr fauzia Naseem shad
गोरे मुखड़े पर काला चश्मा
श्री रमण 'श्रीपद्'
मोर के मुकुट वारो
शेख़ जाफ़र खान
बेटी का पत्र माँ के नाम
Anamika Singh
प्रेम में त्याग
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता का सपना
Prabhudayal Raniwal
पिता के रिश्ते में फर्क होता है।
Taj Mohammad
Loading...