#29 Trending Author

छठ के ई त्योहार (कुण्डलिया छंद)

माई के ममता हवे, छठ के ई त्योहार।
लइकन खातिर ही सहें, माई कष्ट हजार।
माई कष्ट हजार, प्यार आ ममता देली।
ना राखेली भेद, हमेशा समता देली।
खुद के बा उपवास, बंस के देस मिठाई।
ईश्वर के ले रूप, धरा पर आवस माई।।

– आकाश महेशपुरी
दिनांक- 09/11/2021

4 Likes · 245 Views
You may also like:
मुसाफिर चलते रहना है
Rashmi Sanjay
अभी बचपन है इनका
gurudeenverma198
लहजा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
【29】!!*!! करवाचौथ !!*!!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
यादें आती हैं
Krishan Singh
लाचार बूढ़ा बाप
The jaswant Lakhara
🍀🌺प्रेम की राह पर-51🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मेरे हाथो में सदा... तेरा हाथ हो..
Dr. Alpa H.
सूरज से मनुहार (ग्रीष्म-गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मैं हूँ किसान।
Anamika Singh
प्रकृति
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मेरी भोली ''माँ''
पाण्डेय चिदानन्द
मै पैसा हूं दोस्तो मेरे रूप बने है अनेक
Ram Krishan Rastogi
🌺🌻🌷तुम मिलोगे मुझे यह वादा करो🌺🌻🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दिल्ली की कहानी मेरी जुबानी [हास्य व्यंग्य! ]
Anamika Singh
महापंडित ठाकुर टीकाराम 18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित
श्रीहर्ष आचार्य
मिलन-सुख की गजल-जैसा तुम्हें फैसन ने ढाला है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
"पिता"
Dr. Alpa H.
जिन्दगी है हमसे रूठी।
Taj Mohammad
पिता की छाँव...
मनोज कर्ण
पिता
Shailendra Aseem
चिंता और चिता
VINOD KUMAR CHAUHAN
कभी सोचा ना था मैंने मोहब्बत में ये मंजर भी...
Krishan Singh
पाखंडी मानव
ओनिका सेतिया 'अनु '
आद्य पत्रकार हैं नारद जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तेरे दिल में कोई और है
Ram Krishan Rastogi
"राम-नाम का तेज"
Prabhudayal Raniwal
【21】 *!* क्या आप चंदन हैं ? *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
💐 ग़ुरूर मिट जाएगा💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
होते हैं कई ऐसे प्रसंग
Dr. Alpa H.
Loading...