Oct 31, 2021 · 1 min read

कइसे होई खेती अब

कइसे होइ खेती अब ,
डीज़ल के दाम बढल बा।
कई बीघा खेत अब ,
पइसा के अभाव में परती पड़ल बा
जोताई भइल पचास (50)के कट्ठा
लेवाई सौ (100) के लागता
का कहि केकरा से कही
ई दाम काहे भागता

पेट्रोल,डीजल के का कही।
करुआ तेल भी अइसन भागता
इहो सोना के दुकान पर बेचाई।
अइसन हमरा लागता
का कहि केकरा से कही
के दाम कहे भागता

हद हो गइल महंगाई के ,गरीब कइसे जिहि
का करि,मन अगुताई त जहर के सीसी पिही।
का करो कइसे कर,ई सब उल्हा लाँघता
का कही कइसे कहि,ई दाम कहे भागता।

#सूरज कुशवाहा #
सम्पर्क सूत्र-8873990054

108 Views
You may also like:
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग२]
Anamika Singh
ये दूरियां मिटा दो ना
Nitu Sah
पिता ईश्वर का दूसरा रूप है।
Taj Mohammad
एक जंग, गम के संग....
Aditya Prakash
ग़ज़ल
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मत बना किसी को अपनी कमजोरी
Krishan Singh
बुआ आई
राजेश 'ललित'
मतदान का दौर
Anamika Singh
पिता तुम हमारे
Dr. Pratibha Mahi
प्रकाशित हो मिल गया, स्वाधीनता के घाम से
Pt. Brajesh Kumar Nayak
ये दिल मेरा था, अब उनका हो गया
Ram Krishan Rastogi
एक पिता की जान।
Taj Mohammad
श्री राम ने
Vishnu Prasad 'panchotiya'
यौवन अतिशय ज्ञान-तेजमय हो, ऐसा विज्ञान चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मेरा ना कोई नसीब है।
Taj Mohammad
दिल टूट करके।
Taj Mohammad
बिछड़न [भाग २]
Anamika Singh
खुद को तुम पहचानो नारी [भाग २]
Anamika Singh
ग़ज़ल
Anis Shah
काँटे .. ज़ख्म बेहिसाब दे गये
Princu Thakur "usha"
संविधान निर्माता को मेरा नमन
Surabhi bharati
💐💐प्रेम की राह पर-14💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
-:फूल:-
VINOD KUMAR CHAUHAN
यह तो वक़्त ही बतायेगा
gurudeenverma198
जीवन में ही सहे जाते हैं ।
Buddha Prakash
हाल ए इश्क।
Taj Mohammad
विश्व हास्य दिवस
Dr Archana Gupta
एक शख्स ही ऐसा होता है
Krishan Singh
आज का विकास या भविष्य की चिंता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
आंचल में मां के जिंदगी महफूज होती है
VINOD KUMAR CHAUHAN
Loading...