Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
Sep 11, 2021 · 1 min read

**अदिमी के का हाल बा**

***********************
सुगना सोचे बइठि खोह में,का अदिमी के हाल बा।
दुसरा के बेहाल बनावत,आज भइल बेहाल बा।।

अपनी बुद्धी के बल पर ऊ,सबके नाच नचा दिहलस।
सब जीउवन के बस में करिके,हाहाकार मचा दिहलस।
आजु कठिन दिन ओकर आइल,गलत न तनिको दाल बा।
दुसरा के बेहाल बनावत ,आज भइल बेहाल बा।।1।।

धरा-गगन-पाताल सभत्तर,कब्जावे में जुटल रहे।
ओकरे कारन कई बेर ले,सृष्टि नियमवो टुटल रहे।।
बर्म्हा के भाई बनिके खुद,चलल बजावे गाल बा।
दुसरा के बेहाल बनावत,आज भइल बेहाल बा।।2।।

बनसपती के करत निरादर,धरती कें नंगा कइलस।
काट-मार के जीया-जनावर,हरो घरी दंगा कइलस।।
आज डेराइल बा बदुरी से,समझत आपन काल बा।
दुसरा के बेहाल बनावत,आज भइल बेहाल बा।।3।।

हमरा खातिर पिंजरा राखे,आपन बोली रटवावेला।
जनवर सब के बान्हि पगहिया,आपन वाला करवावेला।।
हड़कउलस अबहिन ले सबके,ऐकर बड़ा मलाल बा।।
दुसरा के बेहाल बनावत,आज भइल बेहाल बा।।4।।

करनी के फल भोगत बाटे,साँस-साँस के दूलम बा।
पेड़-खूँट बचले जब नइखे,बीपति खुल्लाखूलम बा।।
बाकी सब निहाल देखिके,टूटत ओकर जाल बा।
दुसरा के बेहाल बनावत,आज भइल बेहाल बा।।5।।

**माया शर्मा,पंचदेवरी,गोपालगंज(बिहार)**

1 Like · 1 Comment · 297 Views
You may also like:
रफ्तार
Anamika Singh
✍️फिर बच्चे बन जाते ✍️
Vaishnavi Gupta
घनाक्षरी छंद
शेख़ जाफ़र खान
दिल की ये आरजू है
श्री रमण 'श्रीपद्'
कुछ नहीं इंसान को
Dr fauzia Naseem shad
असफ़लताओं के गाँव में, कोशिशों का कारवां सफ़ल होता है।
Manisha Manjari
पापा क्यूँ कर दिया पराया??
Sweety Singhal
जीवन की प्रक्रिया में
Dr fauzia Naseem shad
नींद खो दी
Dr fauzia Naseem shad
सफलता कदम चूमेगी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बरसात आई झूम के...
Buddha Prakash
पिता
Saraswati Bajpai
आजादी अभी नहीं पूरी / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बंदर भैया
Buddha Prakash
याद तेरी फिर आई है
Anamika Singh
जादूगर......
Vaishnavi Gupta
रंग हरा सावन का
श्री रमण 'श्रीपद्'
रूखा रे ! यह झाड़ / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
भारत भाषा हिन्दी
शेख़ जाफ़र खान
तुम साथ अगर देते नाकाम नहीं होता
Dr Archana Gupta
# पिता ...
Chinta netam " मन "
इश्क कोई बुरी बात नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"पिता की क्षमता"
पंकज कुमार कर्ण
✍️अकेले रह गये ✍️
Vaishnavi Gupta
गोरे मुखड़े पर काला चश्मा
श्री रमण 'श्रीपद्'
अपने दिल को ही
Dr fauzia Naseem shad
पिता
लक्ष्मी सिंह
If we could be together again...
Abhineet Mittal
ऐ ज़िन्दगी तुझे
Dr fauzia Naseem shad
श्रीमती का उलाहना
श्री रमण 'श्रीपद्'
Loading...