Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Apr 2023 · 1 min read

🦋 आज की प्रेरणा 🦋

🦋 आज की प्रेरणा 🦋

खुशी केवल उन्हीं लोगों को प्राप्त होती है जो अपने से ज्यादा दूसरों को खुश करने में प्रयासरत रहते हैं।

आज से हम अपने अच्छे स्वभाव द्वारा सभी को खुश रखें.
🍃💫🍃💫🍃💫🍃💫🍃💫🍃

220 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हम शरीर हैं, ब्रह्म अंदर है और माया बाहर। मन शरीर को संचालित
हम शरीर हैं, ब्रह्म अंदर है और माया बाहर। मन शरीर को संचालित
Sanjay ' शून्य'
#लघुकथा
#लघुकथा
*Author प्रणय प्रभात*
" REAL APPLICATION OF PUNCTUALITY "
DrLakshman Jha Parimal
बेटी को मत मारो 🙏
बेटी को मत मारो 🙏
Samar babu
अपनी ताकत को कलम से नवाजा जाए
अपनी ताकत को कलम से नवाजा जाए
कवि दीपक बवेजा
बस तुम
बस तुम
Rashmi Ranjan
*तुलसीदास (कुंडलिया)*
*तुलसीदास (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
# जज्बे सलाम ...
# जज्बे सलाम ...
Chinta netam " मन "
मेरी आंखों में
मेरी आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
खून-पसीने के ईंधन से, खुद का यान चलाऊंगा,
खून-पसीने के ईंधन से, खुद का यान चलाऊंगा,
डॉ. अनिल 'अज्ञात'
वसंत
वसंत
AMRESH KUMAR VERMA
कुल के दीपक
कुल के दीपक
Utkarsh Dubey “Kokil”
पिता (मर्मस्पर्शी कविता)
पिता (मर्मस्पर्शी कविता)
Dr. Kishan Karigar
जय रावण जी / मुसाफ़िर बैठा
जय रावण जी / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
मर्चा धान को मिला जीआई टैग
मर्चा धान को मिला जीआई टैग
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
तूने किया हलाल
तूने किया हलाल
Jatashankar Prajapati
वक़्त का तकाज़ा
वक़्त का तकाज़ा
Shekhar Chandra Mitra
शक्ति का पूंजी मनुष्य की मनुष्यता में है।
शक्ति का पूंजी मनुष्य की मनुष्यता में है।
प्रेमदास वसु सुरेखा
Blessings Of The Lord Buddha
Blessings Of The Lord Buddha
Buddha Prakash
बूढ़ी मां
बूढ़ी मां
Sûrëkhâ Rãthí
जीवन उर्जा ईश्वर का वरदान है।
जीवन उर्जा ईश्वर का वरदान है।
Anamika Singh
भाव - श्रृँखला
भाव - श्रृँखला
Shyam Sundar Subramanian
मैं ख़ुद से बे-ख़बर मुझको जमाना जो भी कहे
मैं ख़ुद से बे-ख़बर मुझको जमाना जो भी कहे
VINOD KUMAR CHAUHAN
✍️तजुर्बों से अधूरे रह जाते
✍️तजुर्बों से अधूरे रह जाते
'अशांत' शेखर
💐💐प्रेम की राह पर-12💐💐
💐💐प्रेम की राह पर-12💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
!! दूर रहकर भी !!
!! दूर रहकर भी !!
Chunnu Lal Gupta
ऐसा भी नहीं
ऐसा भी नहीं
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
~रेत की आत्मकथा ~
~रेत की आत्मकथा ~
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
प्रीति क्या है मुझे तुम बताओ जरा
प्रीति क्या है मुझे तुम बताओ जरा
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
गणेश चतुर्थी
गणेश चतुर्थी
Surinder blackpen
Loading...