Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Nov 2023 · 1 min read

🙏 *गुरु चरणों की धूल*🙏

🙏 गुरु चरणों की धूल🙏
विधा-गीत लावणी छन्द =चौपाई+ मानव१४+१६=३०मात्रा मुखड़ा सामंत-आना पदांत हैप्रथम अंतरा-अंदनद्वितीय अंतरा-डोलीतृतीय अंतरा-आई में
==================
सत्य सनातन पथ धर्म का,
नेक कर्म कर जाना हैं।
जन मन के दुर्भाव मिटाकर,
कुल यशस्वी बनाना है।।
सोना चाँदी महल अटारी नहीं,
साथ जग छूटें बंधन।
श्रद्धा भाव से माँ को पुकारे,
नहीं वो सुनती है माँ क्यों क्रन्दन।
करनी का फल दुनियां में तम,
ये नेकी मार्ग पर जाना है।।
श्रवण सी करनी जाहिर,
वाम न सुहाई बोली।
एक हंढी दो र्खी बनाकर,
कँवर जग मय डोली।।
श्रवण मारा न बतापानी,
दशरथ दोष दीना है।
ज्ञानी गुणी जनों कोई बता दो,
कौन मार ग्या च्तुराई में।।
प्रयोग करो फिर मानों ह्मारी,
कौन दोष था करनी में।
रँगी राही ये बताओं ज्ञानियो,
ए तुर्राया घराना है।।

✍जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी

148 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
पूरी उम्र बस एक कीमत है !
पूरी उम्र बस एक कीमत है !
पूर्वार्थ
मेरा कौन यहाँ 🙏
मेरा कौन यहाँ 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
* करते कपट फरेब *
* करते कपट फरेब *
surenderpal vaidya
अर्जुन धुरंधर न सही ...एकलव्य तो बनना सीख लें ..मौन आखिर कब
अर्जुन धुरंधर न सही ...एकलव्य तो बनना सीख लें ..मौन आखिर कब
DrLakshman Jha Parimal
मुस्कुराते रहो
मुस्कुराते रहो
Basant Bhagawan Roy
--> पुण्य भूमि भारत <--
--> पुण्य भूमि भारत <--
Ms.Ankit Halke jha
दोहा बिषय- दिशा
दोहा बिषय- दिशा
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
पत्नी की प्रतिक्रिया
पत्नी की प्रतिक्रिया
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
पहुँचाया है चाँद पर, सफ़ल हो गया यान
पहुँचाया है चाँद पर, सफ़ल हो गया यान
Dr Archana Gupta
"सच्चाई"
Dr. Kishan tandon kranti
कर रही हूँ इंतज़ार
कर रही हूँ इंतज़ार
Rashmi Ranjan
बिन सूरज महानगर
बिन सूरज महानगर
Lalit Singh thakur
*हिम्मत जिंदगी की*
*हिम्मत जिंदगी की*
Naushaba Suriya
बच्चों के पिता
बच्चों के पिता
Dr. Kishan Karigar
उपकार माईया का
उपकार माईया का
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कुंडलिया छंद विधान ( कुंडलिया छंद में ही )
कुंडलिया छंद विधान ( कुंडलिया छंद में ही )
Subhash Singhai
तुम्हारे लिए हम नये साल में
तुम्हारे लिए हम नये साल में
gurudeenverma198
दुआ
दुआ
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
मैं हिंदी में इस लिए बात करता हूं क्योंकि मेरी भाषा ही मेरे
मैं हिंदी में इस लिए बात करता हूं क्योंकि मेरी भाषा ही मेरे
Rj Anand Prajapati
■ हाय राम!!
■ हाय राम!!
*Author प्रणय प्रभात*
ऐ ज़िंदगी
ऐ ज़िंदगी
Shekhar Chandra Mitra
*बादल*
*बादल*
Santosh kumar Miri
जन-जन के आदर्श तुम, दशरथ नंदन ज्येष्ठ।
जन-जन के आदर्श तुम, दशरथ नंदन ज्येष्ठ।
डॉ.सीमा अग्रवाल
बसंत
बसंत
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
हमें सलीका न आया।
हमें सलीका न आया।
Taj Mohammad
सहारा
सहारा
Neeraj Agarwal
3352.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3352.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
"" *मन तो मन है* ""
सुनीलानंद महंत
कैसी ये पीर है
कैसी ये पीर है
Dr fauzia Naseem shad
सुबह-सुबह उठ जातीं मम्मी (बाल कविता)
सुबह-सुबह उठ जातीं मम्मी (बाल कविता)
Ravi Prakash
Loading...