Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Oct 2021 · 1 min read

🙏महागौरी🙏

“महागौरी”
***🙏***

जय जय माॅं , ‘अम्बे गौरी’;
ध्यान दे, ‘भक्तों’ पर थोड़ी,
‘मॉं’ तू देवी है, ‘सौंदर्य’ की;
‘नारी-शक्ति’ व ‘ऐश्वर्य’ की;
नवदुर्गा में,’मॉं’ तू अष्टम् है;
‘महाष्टमी’, होती तेरी पूजा;
‘माता’ तेरी है , चार भुजा;
तू , त्रिशूल सह डमरूधारी;
अभयदान देनेवाली, माता;
तू ही देवी , ‘वरमुद्रा’ धारी;
पूर्ण गौर वर्ण हैं , तेरे माता;
‘चांदनी’ सी श्वेत, तेरी छटा;
तुझे पूजे ‘मॉं’, हर नर-नारी;
करे तू , ‘वृषभ’ की सवारी;
तू ही ‘श्यामा’ तू ही पार्वती;
तू ही ‘महागौरी’,तू ही सती;
तू ही; उमा,रमा, ब्रह्माणी है;
मॉं तू ही , ‘शिव पटरानी’ है;
‘भोलेशंकर’ ही, तेरे हैं पति;
तेरी पूजन से तो ही, ‘माता’;
नवों ‘देवियाँ’, ‘प्रसन्न’ होती;
तुम तो, ‘कैलाश’ पर रहती;
तू सुहाग की, देवी है ‘माते’;
हरेक सुहागन, मॉं तेरे द्वारे;
चुनरी भेंट, करने को जाते;
तेरे पूजन, स्मरण से ‘माते’;
सब ही,अद्भूत सिद्धि पाते;
मानव वृतियों को,तू ही मॉं;
असत् से सत् में , ले जाते;
भक्त करे ‘मॉं’, तेरी प्रार्थना;
और देव व ऋषि, भी गाते,,,,,,
…..”सर्वमंगल मंगल्ये,……
….शिवे सर्वार्थ साधिके,….
…..शरण्ये त्र्यंबके गौरि,…..
…..नारायणि नमोस्तुते”……
*********🙏**********

स्वरचित सह मौलिक;
……..✍️पंकज कर्ण
…………..कटिहार।।
तिथि:१३/१०/२०२१

Language: Hindi
4 Likes · 2 Comments · 907 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
Jindagi ko dhabba banaa dalti hai
Jindagi ko dhabba banaa dalti hai
Dr.sima
बहुत असमंजस में हूँ मैं
बहुत असमंजस में हूँ मैं
gurudeenverma198
🚩🚩 रचनाकार का परिचय/
🚩🚩 रचनाकार का परिचय/"पं बृजेश कुमार नायक" का परिचय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
ओस की बूंद
ओस की बूंद
RAKESH RAKESH
FORGIVE US (Lamentations of an ardent lover of nature over the pitiable plight of “Saranda” Forest.)
FORGIVE US (Lamentations of an ardent lover of nature over the pitiable plight of “Saranda” Forest.)
Awadhesh Kumar Singh
कुछ मुक्तक...
कुछ मुक्तक...
डॉ.सीमा अग्रवाल
#justareminderekabodhbalak #drarunkumarshastriblogger
#justareminderekabodhbalak #drarunkumarshastriblogger
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ये  भी  क्या  कमाल  हो  गया
ये भी क्या कमाल हो गया
shabina. Naaz
पुस्तक समीक्षा-----
पुस्तक समीक्षा-----
राकेश चौरसिया
आस
आस
Dr. Rajiv
💐प्रेम कौतुक-225💐
💐प्रेम कौतुक-225💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कल्पनाओं की कलम उठे तो, कहानियां स्वयं को रचवातीं हैं।
कल्पनाओं की कलम उठे तो, कहानियां स्वयं को रचवातीं हैं।
Manisha Manjari
सपनो में देखूं तुम्हें तो
सपनो में देखूं तुम्हें तो
Aditya Prakash
इंकलाब की मशाल
इंकलाब की मशाल
Shekhar Chandra Mitra
आभरण
आभरण
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
तेरे शब्दों के हर गूंज से, जीवन ख़ुशबू देता है…
तेरे शब्दों के हर गूंज से, जीवन ख़ुशबू देता है…
Anand Kumar
' मौन इक सँवाद '
' मौन इक सँवाद '
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
निश्चल छंद और विधाएँ
निश्चल छंद और विधाएँ
Subhash Singhai
प्रणय 2
प्रणय 2
Ankita Patel
तुम बिन जीना सीख लिया
तुम बिन जीना सीख लिया
Arti Bhadauria
■ आज का दोहा
■ आज का दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
रिश्तें मे मानव जीवन
रिश्तें मे मानव जीवन
Anil chobisa
पर्यावरण प्रतिभाग
पर्यावरण प्रतिभाग
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
"लक्की"
Dr Meenu Poonia
गर्म चाय
गर्म चाय
Kanchan Khanna
*चलो शुरू करते हैं अपनी  नई दूसरी पारी (हिंदी गजल/गीतिका)*
*चलो शुरू करते हैं अपनी नई दूसरी पारी (हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
तुम गजल मेरी हो
तुम गजल मेरी हो
साहित्य गौरव
लड्डू गोपाल की पीड़ा
लड्डू गोपाल की पीड़ा
Satish Srijan
कद्रदान
कद्रदान
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हमको
हमको
Divya Mishra
Loading...