Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Feb 2023 · 1 min read

💥सच कहा तो बुरा मान गए 💥

💥सच कहा तो बुरा मान गए 💥

सच कहा तो बुरा मान गए ।
यूं जमाना बुरा मान गए ।।

जिंदगी मौत सी देखो तुम।
वाह दुनिया बुरा मान गए ।।

………✍प्रो .खेदू भारती “सत्येश “

65 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शमा से...!!!
शमा से...!!!
Kanchan Khanna
गुम है सरकारी बजट,
गुम है सरकारी बजट,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आश्रय
आश्रय
goutam shaw
रिश्ते वही अनमोल
रिश्ते वही अनमोल
Dr fauzia Naseem shad
तब याद तुम्हारी आती है (गीत)
तब याद तुम्हारी आती है (गीत)
संतोष तनहा
Dr Arun Kumar Shastri
Dr Arun Kumar Shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
चार दिनों की जिंदगी है, यूँ हीं गुज़र के रह जानी है...!!
चार दिनों की जिंदगी है, यूँ हीं गुज़र के रह जानी है...!!
Ravi Malviya
जो उनसे पूछा कि हम पर यक़ीं नहीं रखते
जो उनसे पूछा कि हम पर यक़ीं नहीं रखते
Anis Shah
प्रभु पावन कर दो मन मेरा , प्रभु पावन तन मेरा
प्रभु पावन कर दो मन मेरा , प्रभु पावन तन मेरा
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बैठ अटारी ताकता, दूरी नभ की फाँद।
बैठ अटारी ताकता, दूरी नभ की फाँद।
डॉ.सीमा अग्रवाल
पेडों को काटकर वनों को उजाड़कर
पेडों को काटकर वनों को उजाड़कर
ruby kumari
@The electanet mother
@The electanet mother
Ms.Ankit Halke jha
जीवन अनमोल है।
जीवन अनमोल है।
जगदीश लववंशी
एक खूबसूरत पिंजरे जैसा था ,
एक खूबसूरत पिंजरे जैसा था ,
लक्ष्मी सिंह
किसी की याद आना
किसी की याद आना
श्याम सिंह बिष्ट
प्रकृति
प्रकृति
नवीन जोशी 'नवल'
■ एहसास...
■ एहसास...
*Author प्रणय प्रभात*
बेरुखी इख्तियार करते हो
बेरुखी इख्तियार करते हो
shabina. Naaz
हिन्दी दोहा बिषय-
हिन्दी दोहा बिषय- "घुटन"
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
💐अज्ञात के प्रति-35💐
💐अज्ञात के प्रति-35💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दिल से मुझको सदा दीजिए।
दिल से मुझको सदा दीजिए।
सत्य कुमार प्रेमी
*नन्ही सी गौरीया*
*नन्ही सी गौरीया*
Shashi kala vyas
विश्ववाद
विश्ववाद
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
सीने में जलन
सीने में जलन
Surinder blackpen
दूर की कौड़ी ~
दूर की कौड़ी ~
दिनेश एल० "जैहिंद"
Pata to sabhi batate h , rasto ka,
Pata to sabhi batate h , rasto ka,
Sakshi Tripathi
इश्क़
इश्क़
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
भय भव भंजक
भय भव भंजक
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जो समझदारी से जीता है, वह जीत होती है।
जो समझदारी से जीता है, वह जीत होती है।
Sidhartha Mishra
*एक दिवस सब्जी मंडी में (बाल कविता)*
*एक दिवस सब्जी मंडी में (बाल कविता)*
Ravi Prakash
Loading...