Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Mar 2023 · 1 min read

💐Prodigy Love-45💐

Oh Dear!
Look.
If we consider ourself ocean.
We make certain to dive in it.
It will not suffice to dive.
But explore peace in it with dive,it should be our motive.
We are to work on this facet, regularly.
Don’t leave it.
Our inner ocean,s fathom is not common.
When we acknowledge it.
It become itself more deep.
It is the fact.
That should be understand.
Here,we shall find the soil of ideas.
Don’t worry.we are not finding them.
We are mitigating them from our mind.
Eradicate them slowly.
Definitely, you will be succeeded.
Such happens with every person.
It is common thing.
Apply a quantum leap.
With what?
TRUE LOVE OF GOD IN MY AND YOUR HEART.
Wait with pleasure.
Oh Dear!

©®Abhishek Parashar “Aanand”

Language: English
47 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
A Donkey and A Lady
A Donkey and A Lady
AJAY AMITABH SUMAN
चित्रकार उठी चिंकारा बनी किस के मन की आवाज बनी
चित्रकार उठी चिंकारा बनी किस के मन की आवाज बनी
प्रेमदास वसु सुरेखा
मुझे प्रीत है वतन से, मेरी जान है तिरंगा
मुझे प्रीत है वतन से, मेरी जान है तिरंगा
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नशा
नशा
Dr. Kishan tandon kranti
आत्मा की शांति
आत्मा की शांति
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
#तेवरी / #अफ़सरी
#तेवरी / #अफ़सरी
*Author प्रणय प्रभात*
प्यार
प्यार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
शिव स्तुति
शिव स्तुति
Shivkumar Bilagrami
कमी नहीं थी___
कमी नहीं थी___
Rajesh vyas
दिल के टुकड़े
दिल के टुकड़े
Surinder blackpen
उसके सवालों का जवाब हम क्या देते
उसके सवालों का जवाब हम क्या देते
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
🚩🚩 रचनाकार का परिचय/
🚩🚩 रचनाकार का परिचय/"पं बृजेश कुमार नायक" का परिचय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*तपसी वेश सिया का पाया (कुछ चौपाइयॉं)*
*तपसी वेश सिया का पाया (कुछ चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
प्रणय 4
प्रणय 4
Ankita Patel
नरसिंह अवतार
नरसिंह अवतार
Shashi kala vyas
🌹*लंगर प्रसाद*🌹
🌹*लंगर प्रसाद*🌹
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
ज़हर ही ज़हर है और जीना भी है,
ज़हर ही ज़हर है और जीना भी है,
Dr. Rajiv
सुहाग रात
सुहाग रात
Ram Krishan Rastogi
सत्ता परिवर्तन
सत्ता परिवर्तन
Bodhisatva kastooriya
मौन
मौन
Shyam Sundar Subramanian
सोच बदलनी होगी
सोच बदलनी होगी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
भगोरिया पर्व नहीं भौंगर्या हाट है, आदिवासी भाषा का मूल शब्द भौंगर्यु है जिसे बहुवचन में भौंगर्या कहते हैं। ✍️ राकेश देवडे़ बिरसावादी
भगोरिया पर्व नहीं भौंगर्या हाट है, आदिवासी भाषा का मूल शब्द भौंगर्यु है जिसे बहुवचन में भौंगर्या कहते हैं। ✍️ राकेश देवडे़ बिरसावादी
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
💐 Prodigy Love-19💐
💐 Prodigy Love-19💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
संविधान ग्रंथ नहीं मां भारती की एक आत्मा 🇮🇳
संविधान ग्रंथ नहीं मां भारती की एक आत्मा 🇮🇳
तारकेशवर प्रसाद तरुण
ऐतबार कर बैठा
ऐतबार कर बैठा
Naseeb Jinagal Koslia नसीब जीनागल कोसलिया
नारी
नारी
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
“तब्दीलियां” ग़ज़ल
“तब्दीलियां” ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
ना कोई संत, न भक्त, ना कोई ज्ञानी हूँ,
ना कोई संत, न भक्त, ना कोई ज्ञानी हूँ,
डी. के. निवातिया
मैं रचनाकार नहीं हूं
मैं रचनाकार नहीं हूं
Manjhii Masti
शहीद -ए -आजम भगत सिंह
शहीद -ए -आजम भगत सिंह
Rj Anand Prajapati
Loading...