Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Dec 2022 · 3 min read

💐💐हे अम्बर सरिया..……………..💐💐

##मणिकर्णिका##
##तुम्हें धिक्कारूँगा, जीवन भर##
##मेरे एक गीत का क़त्ल कर दिया##
##हाँ ऐसे ही तमीज़ से फ़ोटो डालना##
##चैलेंज मत दे,ताड़का##
##बौनी बौनी बौनी##
##तेरे लिए Rap songs बनेंगे##
##तेरा एक नाम और है हे पों पों##
##तुम्हारा कोई चैलेंज स्वीकार नहीं##
##अब नहाएंगे बौनी, बौनी##
##पगलू##

सहित्यपीडिया के किसी भी नियम का उल्लंघन नहीं किया गया है।अंग्रेजी लिखने के लिए देवनागरी लिपि का ही प्रयोग किया गया है।एक स्थान पर ही केवल सामान्य गुदगुदी देने के लिए अंग्रेजी अक्षर का प्रयोग किया है।यदि किसी की भावना आहत हो तो,(हाँ,रूपा को छोड़कर) वह क्षमा करें।(((सभी की भावना सुरक्षित है))) चिंता न करें।((((भावना)))।

हे अम्बर सरिया,
हे अम्बर सरिया,
आई डोंट से आई एम गॉड,
यू एवर लिफ्ट टेन किलो रॉड,
माना गिलहरी को खिलाना परोपकार है,
गर्दन तक खाती है रूपा और लेती न डकार है😉,
हम न जादूगर हैं, न बिछाया किसी जाल को,
हमें न बताओ शब्दों के जाल को,
हमने न बसाया मन में,ऐसे किसी प्रकार को,
ठीक है, कह दो हाँ ठीक है,
ज़्यादा उड़ो मत,ज़्यादा फैंको मत,
हमारी बात को लेकर क्या? शरमाना था,
बात करनी थी तुम्हें हमारा बैंड बजाना था,
छीं छीं कितना सड़ा हाथ है,
‘अपुनइच भगवान है’ हमने कब कहा,
यह भी कोई बात है,
हमने कहा था,तुम्हें हे केंडिल,
कह ही देती, बिफोर यू आऊँगी तब मारूंगी सेंडिल,।।1।।
हे अम्बर सरिया!
आगे बढ़ाता हूँ बात को,
रूपा और मेरे डिजिटल साथ को,
हम तो कहेंगे ,आई एम राइडर आई एम राइडर,
तेरे पापा पर है,क्या क्या क्या?
तेरी मम्मी का लाइटर😉,
डोंट से सेल्फ फाइटर,यस फाइटर,
यू लूजर राइटर,यस राइटर,
व्हाई व्हाई व्हाई,
टाइपिंग आती नहीं है,
दिन भर लिखती है, कभी गाने सुनाती नहीं है,।।2।।
हे अम्बर सरिया!
हम तो कहेंगे ब्रो राधे राधे,
कितने भोले भाले हैं हम और सीधे साधे,
तुम पर रखें हैं घटिया वादे,
देख लेना तुम्हारे होंगे क्या-क्या,हाँ क्या?
आए हाए,दो दो साहबज़ादे,
हम ने कहा था हमारा नहीं कोई चक्कर,
देख लेना तेरी मेरी होगी ब्रुटल टक्कर,
देख लेना तेरी नाक पर साँप खाएगा,
डॉक्टर कुछ न कर पायेगा,
अभिषेक को बुलाना क्यों क्यों क्यों?
तेरे वही पोइजन का इंजेक्शन लगाएगा😉।।3।।
हे अम्बर सरिया!
पास में पड़ी है तम्बाकू का थूक,
पीछे से आवाज़ आएगी ज़्यादा मत फूँक,
हमने लिखा था हमें बुखार था,
हे बूढ़ी अम्मा😉 हमें न खुमार था,
रूपा अच्छी लगी थी कह दी थी अपनी बात,
स्ट्रगल करता रहा,कितना दिया तूने साथ,
सोच रही होगी, आई एम लाफ्टर,
मूवी बनवाले अपनी होगी, क्या क्या क्या,
होगी ब्लॉकबस्टर, हाँ ब्लॉकबस्टर,
रावण की अम्मा का नाम था कैकसी,
हमने कब कहा था क्या क्या क्या,
तुझे ट्रिग्नोमेट्री वाला Sec C😉,।।4।।
हे अम्बर सरिया!
चिप्स मत खाना दाँत घिस जाएँगे,
दाँत घिस जाएगे तो हो जाएगी पोपली,
मुँह से आवाज़ आएगी जैसी बज रही ढपली,
हम तो उस ईश्वर के गुलाम है,
छोटे इंसान है,न भगवान है,
एवरी मूमेंट,आई एम फ़ॉर गॉड एंड फ़ॉर गॉड,
तू बिल्ली,उठाती रहना डिग्री की क्या क्या क्या?
रॉड, रॉड,रॉड,हाँ सड़ी हुई रॉड,
चल चुप हो जा,सोना हो तो सोजा,
रोना हो तो,ईट मार ले सिर में, रोजा😉,
चल पागल है, तू फूटी गागर है,
हे अम्बर सरिया, हाँ तू है अम्बर सरिया
गांव चली जा और पाल ले क्या क्या क्या,
गिलहरी, बकरी, बिल्ली बन्दर और बंदरिया😉।।5।।

🌹डिजिटल गुलाब भेज रहा हूँ।ले ले।

©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
Tag: Rap
61 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
त्याग करने वाला
त्याग करने वाला
Buddha Prakash
खुदा के वास्ते
खुदा के वास्ते
shabina. Naaz
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mayank Kumar
अंध विश्वास एक ऐसा धुआं है जो बिना किसी आग के प्रकट होता है।
अंध विश्वास एक ऐसा धुआं है जो बिना किसी आग के प्रकट होता है।
Rj Anand Prajapati
मम्मी की डांट फटकार
मम्मी की डांट फटकार
Ms.Ankit Halke jha
💐अज्ञात के प्रति-120💐
💐अज्ञात के प्रति-120💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मिष्ठी के लिए सलाद
मिष्ठी के लिए सलाद
Manu Vashistha
शेष कुछ
शेष कुछ
Dr.Priya Soni Khare
खिलौने वो टूट गए, खेल सभी छूट गए,
खिलौने वो टूट गए, खेल सभी छूट गए,
Abhishek Shrivastava "Shivaji"
ऐ वसुत्व अर्ज किया है....
ऐ वसुत्व अर्ज किया है....
प्रेमदास वसु सुरेखा
#लघुकथा
#लघुकथा
*Author प्रणय प्रभात*
कार्ल मार्क्स
कार्ल मार्क्स
Shekhar Chandra Mitra
,...ठोस व्यवहारिक नीति
,...ठोस व्यवहारिक नीति
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
तुम्हारा चश्मा
तुम्हारा चश्मा
Dr. Seema Varma
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
रिश्ते दिलों के अक्सर इसीलिए
रिश्ते दिलों के अक्सर इसीलिए
Amit Pandey
It is necessary to explore to learn from experience😍
It is necessary to explore to learn from experience😍
Sakshi Tripathi
इश्क़ का पिंजरा ( ग़ज़ल )
इश्क़ का पिंजरा ( ग़ज़ल )
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
जय जय जगदम्बे
जय जय जगदम्बे
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जरूरी नहीं राहें पहुँचेगी सारी,
जरूरी नहीं राहें पहुँचेगी सारी,
Satish Srijan
वह आँखें 👀
वह आँखें 👀
Skanda Joshi
“ हमारा फेसबूक और हमरा टाइमलाइन ”
“ हमारा फेसबूक और हमरा टाइमलाइन ”
DrLakshman Jha Parimal
प्रेम
प्रेम
पंकज कुमार कर्ण
मौत की आड़ में
मौत की आड़ में
Dr fauzia Naseem shad
हे राघव अभिनन्दन है
हे राघव अभिनन्दन है
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
कुछ उत्तम विचार.............
कुछ उत्तम विचार.............
विमला महरिया मौज
*साठ वर्ष की आयु (कुंडलिया)*
*साठ वर्ष की आयु (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
चलो कुछ दूर तलक चलते हैं
चलो कुछ दूर तलक चलते हैं
Bodhisatva kastooriya
Gazal
Gazal
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
गांधी से परिचर्चा
गांधी से परिचर्चा
नन्दलाल सिंह 'कांतिपति'
Loading...