Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jan 2023 · 1 min read

💐💐तुम्हारे साथ की जरूरत है💐💐

##मणिकर्णिका##
##अभी यहीं रहो, वृन्दावन से दूर हो##
##Bonie तकनीकी ज्यादा दिखा रही।##
##अपना कुछ भी तो दो समाज को##
##सेटिंग कब चेंज कर दी##
##हर जगह मेरे आवेदन हैं##

तुम्हारे साथ की जरूरत है,
तुम्हारे साथ की जरूरत है,
कोई अफ़सोस नही तुम्हारे अलावा,
लम्हें-लम्हें पर ख़ामोश करते रहे,
मैं रंजीदा हूँ कुछ बुदबुदा ही दो,
मेरे दिल में कोई नहीं तुम्हारे अलावा,
तुम्हारी शराफ़त की ज़रूरत है,
तुम्हारे साथ की जरूरत है।।1।।
सिमट गये इरादे कोई ख़ुशी दो,
तुम दुःख तो नहीं, तो खुशी दो,
तुम्हारी अन्जुमन की बहार है सुनो,
जिओ अपनी जिंदगी, पर हमें ख़ुशी दो,
तुम्हारी मुख़्तसर मुलाक़ात की जरूरत है,
तुम्हारे साथ की जरूरत है।।2।।
एक लम्बी दूरी तय कर ली है,
तुम्हारी याद है तो हारा नहीं हूँ,
एक मुकम्मल एहसास तो देना,
तुम्हारी उल्फत है बेसहारा नहीं हूँ,
तुमसे एक बात की जरूरत है,
तुम्हारे साथ की जरूरत है।।3।।
वो नहीं आते परछाइयाँ भेजते हैं,
डरा हूँ,क्यों रुसबाईयाँ भेजते हैं,
जिन्दगी क्या?एक कदम भर साथ न दिया,
हवाओं में ना-क़ाबिल पैगाम भेजते हैं,
तुमसे एक इबादत की जरूरत है,
अब तुम्हारे साथ की जरूरत है।।4।।

रंजीदा-दुःखी, संतप्त, मुकम्मल-पूर्ण
रुसबाई-बदनामी की भावना

©®अभिषेक पाराशरः’आनन्द’

Language: Hindi
Tag: गीत
34 Views
You may also like:
"अटल सत्य"
Dr. Kishan tandon kranti
मुक्तामणि, मुक्तामुक्तक
मुक्तामणि, मुक्तामुक्तक
muktatripathi75@yahoo.com
आखरी उत्तराधिकारी
आखरी उत्तराधिकारी
Prabhudayal Raniwal
आखों में इतना पानी है
आखों में इतना पानी है
डी. के. निवातिया
प्रकाशित हो मिल गया, स्वाधीनता के घाम से
प्रकाशित हो मिल गया, स्वाधीनता के घाम से
Pt. Brajesh Kumar Nayak
चाहे जितनी देर लगे।
चाहे जितनी देर लगे।
Buddha Prakash
उसके सवालों का जवाब हम क्या देते
उसके सवालों का जवाब हम क्या देते
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
हर जगह तुझको मैंने पाया है
हर जगह तुझको मैंने पाया है
Dr fauzia Naseem shad
दुःखडा है सबका अपना अपना
दुःखडा है सबका अपना अपना
gurudeenverma198
हिंदी दोहे- न्याय
हिंदी दोहे- न्याय
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
💐अज्ञात के प्रति-102💐
💐अज्ञात के प्रति-102💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हमरे  गउवाँ के अजबे कहानी, जुबानी आज हमरा सुनी।
हमरे गउवाँ के अजबे कहानी, जुबानी आज हमरा सुनी।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
#चाकलेटडे
#चाकलेटडे
सत्य कुमार प्रेमी
क्यों हो गए हम बड़े
क्यों हो गए हम बड़े
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
वज्रमणि
वज्रमणि
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
घर में दो लाचार (कुंडलिया)*
घर में दो लाचार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
वह ठहर जाएगा ❤️
वह ठहर जाएगा ❤️
Rohit yadav
#लघु_व्यंग्य
#लघु_व्यंग्य
*Author प्रणय प्रभात*
Book of the day: ख़्वाबों से हकीकत का सफर
Book of the day: ख़्वाबों से हकीकत का सफर
Sahityapedia
🙋बाबुल के आंगन की चिड़िया🙋
🙋बाबुल के आंगन की चिड़िया🙋
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
उत्कर्षता
उत्कर्षता
अंजनीत निज्जर
तुम जोर थे
तुम जोर थे
Ranjana Verma
ज़रूरी था
ज़रूरी था
Shivkumar Bilagrami
Which have the power to take rebirth like the phoenix, whose power no one can ever match.
Which have the power to take rebirth like the phoenix,...
Manisha Manjari
दाना
दाना
Satish Srijan
जब चांद चमक रहा था मेरे घर के सामने
जब चांद चमक रहा था मेरे घर के सामने
shabina. Naaz
ऐसे इश्क निभाया हमने
ऐसे इश्क निभाया हमने
Anamika Singh
मुस्कुराना चाहता हूं।
मुस्कुराना चाहता हूं।
अभिषेक पाण्डेय ‘अभि’
डर लगता है
डर लगता है
Shekhar Chandra Mitra
जिन्दगी जुगनुओं के जैसे झिलमिल लगती है।
जिन्दगी जुगनुओं के जैसे झिलमिल लगती है।
Taj Mohammad
Loading...